• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Farmers Said Government Promised To Provide Electricity For 6 Hours But Getting One And A Half Hours, Crops Are Being Damaged

बाड़मेर में अघोषित बिजली कटौती से किसान परेशान:किसान बोले- सरकार ने 6 घंटे बिजली देने का किया वादा लेकिन मिल रही डेढ घंटे, फसलों को हो रहा है नुकसान

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर से मुलाकात करते किसान। - Dainik Bhaskar
कलेक्टर से मुलाकात करते किसान।

कोयले की कमी के बीच बिजली उत्पादन में लगातार गिरावट आ रही है। इससे अघोषित बिजली कटौती की समस्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। बिजली कटौती से परेशान किसानों ने भारतीय किसान संघ के बैनर तले जिला कलेक्टर लोक बंधु को अपना मांग-पत्र सौंपा।

कलेक्टर को गुरुवार शाम को सौंपे मांग-पत्र में किसानों ने बताया कि मानसून की सीजन में बारिश की कमी के चलते उनकी खरीफ की फसलें चौपट हो गई। वहीं, रबी की सीजन में अब अघोषित बिजली कटौती उनके लिए बड़ी परेशानी बनी हुई है। भारतीय किसान संघ के संभाग प्रचार प्रमुख प्रह्लाद सियोल ने बताया कि राज्य सरकार ने किसानों को प्रतिदिन 6 घंटे बिजली देने का वादा किया था लेकिन हालिया दिनों में किसानों को मात्र डेढ़ घंटे तक ही बिजली की सप्लाई मिल पा रही है। इससे रबी की फसलों को भी नुकसान पहुंच रहा है। किसानों की मेहनत पर पानी फिर रहा है। भारतीय किसान संघ ने किसानों को पर्याप्त बिजली आपूर्ति दिलवाने की मांग की है।

किसानों ने जिला कलेक्टर से अकाल प्रभावित इलाकों में पशुधन के लिए चारा डिपो खोलने, वर्ष 2018 का बकाया खरीफ बीमा क्लेम और 2019-20 में टिड्डी अटैक के दौरान हुए नुकसान का बीमा क्लेम दिलवाने, गांवो में गोचर भूमि पर हुए अतिक्रमण को हटवाने के साथ एसबीआई बैंक में बीमा प्रीमियम की धांधली की जांच करवाकर किसानों को राहत दिलवाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...