दूल्हा घोड़े पर जाएगा, दुल्हन को हेलिकॉप्टर में लाएगा:डॉक्टर के पिता की इच्छा थी कि बेटे की शादी में कुछ अलग हो, अब बनाया जा रहा हेलिपैड

बाड़मेर5 महीने पहले
दुल्हन धीया और दूल्हा डॉ तरुण।

बाड़मेर से जाने वाली बारात जब लौटकर आएगी तो दूल्हा कार से नहीं हेलिकॉप्टर से दुल्हन को विदा कर लाएगा। पिता की इच्छा थी कि उनके डॉक्टर बेटे की शादी में कुछ अलग हो। इसलिए उन्होंने बहू को विदा कर लाने के लिए साढ़े 6 लाख रुपए में हेलिकॉप्टर बुक कराया। शादी आज की है और कल यानी मंगलवार सुबह दुल्हन को विदा करा दूल्हा रेगिस्तान के धोरों में हेलिकॉप्टर से लाएगा।

माता-पिता का सपना पूरा होगा

अब पूरे परिवार को दुल्हन के घर आने का इंतजार है। दूल्हे का कहना है कि बहुत जल्द मेरे माता-पिता का सपना पूरा होने वाला है। वहीं, बाड़मेर शहर के जसदेर धाम व बिंढाणी गांव में हेलिकॉप्टर को लेकर हेलिपैड बनाने का काम शुरू हो गया है।

सड़क मार्ग से जाएगी बिंडाणी गांव जाएगी बारात

डॉ. तरुण पन्नू परिवार के साथ मंसूरिया कॉलोनी में रहते हैं। उनकी बारात यहां से सड़क मार्ग से बिंढाणी जाएगी। यहां वे दुल्हन धीया के साथ सोमवार रात फेरे लेंगे। फिर मंगलवार सुबह बारात विदा होगी। तरुण धीया को हेलिकॉप्टर में विदा कर बाड़मेर लाएंगे।

पिता ने कहा- यादगार बनाना चाहता हूं

दूल्हे के पिता तिलाराम का कहना है कि उनके इकलौता बेटा है और बेटे की शादी का यादगार बनाना चाहता हूं। पत्नी पार्वती का सपना था कि बेटे की बहु को हेलिकॉप्टर में बैठा कर घर लेकर आए। दूल्हे के पिता व मां सरकारी टीचर है। दूल्हे के पिता तिलाराम पन्नू का कहना है कि हेलिकॉप्टर को लेकर जिला प्रशासन से परमिशन मांगी थी जो शनिवार को मिल गई है। ल्हा डॉ तरुण का कहना है कि मेरे माता-पिता का सपना था वो सपना पूरा होने वाला है। बहुत ही खुशी है मेरे परिवार के साथ दोस्तों में खुशी का ठिकाना नहीं है।

दूल्हा डॉ. तरुण पन्नू
दूल्हा डॉ. तरुण पन्नू

प्रशासन ने दी अनुमति

दूल्हे के पिता तिलाराम पन्नु ने बताया कि नई दिल्ली की सार एविएशन सर्विस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से हेलिकॉप्टर बुक करवाया है। 14 नवंबर को जिला प्रशासन को पत्र लिखकर हेलिकॉप्टर की परमिशन मांगी थी। इसके बाद एसपी बाड़मेर, एसडीएम बाड़मेर और चौहटन, पीडब्लूडी, सीएमएचओ, नगर परिषद की ओर से एनओसी जारी की गई है। इसके बाद बाड़मेर जिला कलेक्टर लोक बंधु ने परमिशन दे दी है। नगर परिषद की ओर से फायर बिग्रेड, स्वास्थ्य विभाग की ओर एंबुलेंस, पुलिस प्रशासन की ओर जवान उपलब्ध रहेंगे। सभी विभागों में नियमानुसार राशि जमा करवा दी गई है।

हेलिपैड को लेकर काम शुरू

हेलिपैड के लिए बाड़मेर के जसदेर धाम के पास में खाली जमीन है। वहां पर उतारा जाएगा। इस जगह पर पहले भी हेलिकॉप्टर उतरे हुए है। वहीं चौहटन उपखंड के बिजराड़ बिंडाणी गांव के खेत में हेलिपैड बनाने का काम लगभग पूरा होने में है। 14 दिसंबर को यह हेलिकॉप्टर दिल्ली से बिंढाणी के लिए रवाना होगा जो सुबह 9 बजे पहुंचेगा। आंधा घंटा रुकने के बाद वहां से दूल्हा-दुल्हन को लेकर उड़ान भरेगा। जो बाड़मेर जसदेर धाम मैदान में 10 बजे पहुंचेगा।

खबरें और भी हैं...