पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Fearing The Operation Of Black Fungus, The Patient Returned To The Village Four Days Ago, The Administration And The Health Team Explained And Sent It To AIIMS Jodhpur.

ब्लैक फंगस के ऑपरेशन का डर, गांव आ गया मरीज:जोधपुर एम्स में चल रहा था इलाज, बीच में ही छोड़कर परिजन ले आए गांव; प्रशासन और स्वास्थ्य टीम ने समझाइश कर वापस भेजा

बाड़मेर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एम्बुलेंस से अस्पताल भेजा गया। - Dainik Bhaskar
एम्बुलेंस से अस्पताल भेजा गया।

लोगों में ब्लैक फंगस का डर इतना ज्यादा है कि एम्स में भर्ती मरीज को परिजन अपने गांव लेकर आ गए। जब स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम को सूचना मिली तो इन्होंने मरीज और इनके परिजनों से समझाइश कर मरीज को एम्बुलेंस में जोधपुर एम्स में रेफर किया।

कल्याणपुर क्षेत्र के कांकराला ग्राम पंचायत के राजस्व गांव खारवा निवासी संवालराम देवासी (55) 24 मई को ब्लैक फंगस के लक्षण दिखने पर जोधपुर रेफर किया था। जो जोधपुर एम्स में भर्ती था। डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने की सूचना परिजनों को दी। ऑपरेशन के डर से परिजन मरीज को 26 मई को अपने गांव लेकर आ गए। इसकी सूचना कल्याणपुर विकास अधिकारी रमेश कुमार, नायब तहसीलदार शैतान सिंह चौहान, ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी आर आर सुथार को मिली। जिन्होंने मरीज के घर पहुंच कर जानकारी ली। परिजनों से लगातार समझाइश की गई। चार दिनों तक समझाइश के बाद रविवार को जोधपुर एम्स एंबुलेंस से भेजा गया।

प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम परिजनों से समझाइश करते हुए
प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम परिजनों से समझाइश करते हुए

एएनएम मनोज के मुताबिक ब्लैक फंगस के लक्षण दिखने पर 24 मई को बालोतरा भेजा था। वहां से उसे जोधपुर एम्स रेफर कर दिया गया था। डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने को कहा तो परिजन डर से गांव लेकर आ गए। इसकी सूचना मिलने पर तहसीलदार और स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने समझाइश की। आज रविवार को उसे एंबुलेंस में जोधपुर एम्स भेजा गया है।

खबरें और भी हैं...