पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • For The First Time After 44 Days, There Is Not A Single Death From Corona, 41 New Positives, 3 Oxygen Plants Will Be Set Up In The District Hospital

राहत का रविवार:44 दिन बाद पहली बार कोरोना से एक भी माैत नहीं, 41 नए पॉजिटिव, जिला अस्पताल में 3 ऑक्सीजन प्लांट लगेंगे

बाड़मेर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
44 दिन बाद पहली बार रविवार को काेराेना से एक भी माैत नहीं हुई। - Dainik Bhaskar
44 दिन बाद पहली बार रविवार को काेराेना से एक भी माैत नहीं हुई।
  • जिला अस्पताल में 80 बेड के चार वार्ड खाली हो गए, आज से 35 बेड पर सामान्य मरीजों को भर्ती कर सकेंगे
  • 101 कोरोना रोगी ठीक हुए, अब 411 ही एक्टिव केस

कोरोना की बेकाबू दूसरी लहर के बीच अब राहत भरी खबर मिल रही है कि कोरोना के केस घट रहे हैं। 44 दिन बाद पहली बार रविवार को काेराेना से एक भी माैत नहीं हुई। इतना ही नहीं पॉजिटिव केस का आंकड़ा भी घटकर 41 तक पहुंच गया। कोरोना के खिलाफ हम इस जंग को जीत रहे हैं।

प्रशासन का लगातार गांवों पर फोकस,डोर टू डोर सर्वे, मेडिसन और प्रभारी मॉनिटरिंग की वजह से संक्रमण कम हो रहा है। हाई स्कूल मैदान में वेदांता ग्रुप की ओर से बनाए जा रहे 100 बेड आधुनिक अस्पताल का मुख्यमंत्री अशोक गहलोत वर्चुअल 4 जून को लोकार्पण करेंगे। इसी दिन जिला मुख्यालय के अस्पताल में बनने वाले तीन ऑक्सीजन प्लांट का भी शिलान्यास करेंगे। कोविड मरीज घटने के कारण रविवार को जिला अस्पताल में 80 बेड के 4 वार्ड खाली कर दिए हैं। ऐसे में अब 35 बेड सामान्य मरीजों के लिए सोमवार से शुरू होंगे। जिला अस्पताल व उसके सहयोग महिला कॉलेज कोविड सेंटर में सिर्फ 195 मरीज ही भर्ती है। चिकित्सा संस्थानों, शहरी वार्डों एवं ग्राम पंचायतों पर 1141 कोविड स्वास्थ्य सहायकों के दस्तावेजों का सत्यापन 1 जून से होगा।

सीएमएचओ डॉ. बाबूलाल विश्नोई ने बताया कि रविवार को जिले में 879 सैंपल लिए गए। इसमें 41 कोरोना पॉजिटिव केस आए। जबकि 44 दिन बाद पहली बार रविवार को कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है। 101 कोरोना रोगी स्वस्थ होकर घर लौट गए। ऐसे में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा घटकर 411 रह गया है। जिला अस्पताल में अब आरटीपीसीआर व एचआरसीटी पॉजिटिव के 195 रोगी ही भर्ती है।

जिला अस्पताल: आज से 35 बेड का सामान्य वार्ड शुरू होगा, 15 दिन में 7 कोविड वार्ड हो गए खाली

पीएमओ बीएल मंसुरिया ने बताया कि बाड़मेर जिला अस्पताल में कोरोना के संक्रमित रोगियों का आंकड़ा लगातार कम हो रहा है। ये ही वजह है कि अब कोरोना के मरीज घटने से वार्ड खाली होने लगे हैं। रविवार को 80 बेड के चार वार्ड खाली हो गए। अब इन वार्डों की धुलाई करवाकर सामान्य मरीजों को भर्ती किया जाएगा। इससे पूर्व 56 बेड के 3 वार्ड खाली हुए थे। सोमवार से जिला अस्पताल में अब 35 बेड का सामान्य वार्ड शुरू हो जाएगा। 2-3 दिन में सामान्य ऑपरेशन के लिए पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड भी शुरू हो जाएंगे।

टीकाेत्सव: 18+ युवाओं ने 15 दिन में लगवाए 25922 टीके, 45 व 60 साल से अधिक उम्र के 57.54% लोगों का टीकाकरण

जब वैक्सीनेशन शुरू हुआ तब लोग वैक्सीन लगाने से डर रहे थे, कई तरह की भ्रांतियां थी, लेकिन अब अप्रैल के बाद कोरोना की दूसरी लहर ने कहर बरपाया तो लोगों में वैक्सीनेशन का उत्साह देखने को मिला। 18+ युवाओं के लिए 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू किया गया, लेकिन स्टॉक नहीं मिलने से 15 जून के बाद शुरू हुआ।

हालांकि 45+ के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान लगातार चल रहा था। अब महज 15 दिन में 18+ युवाओं ने 25922 टीके लगा दिए। युवाओं में जबरदस्त उत्साह है लेकिन टीकों का स्टॉक खत्म हो चुका है। 18+ के लिए अब तक 30500 वैक्सीन ही आई थी। अब लोगों में टीके के प्रति भरोसा बढ़ने लगा है। लोगों को उम्मीद जगी है कि टीका लगने के बाद एंटीबॉडी बनने से संक्रमित होने के बावजूद भी मौत से बचा जा सकता है। बाड़मेर जिले में 45 व 60+ के 6.70 लाख बुजुर्गों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया। दो माह में अब तक सिर्फ 3.85 लाख को ही टीके लगे है यानि 57.54% ही टीकाकरण हुआ।

अब गांवों में भी कोरोना संक्रमण का खतरा टला, कम हो रहे रोगी

जिले में अब कोरोना संक्रमण का खतरा धीरे-धीरे कम हो रहा है। शहरों के बाद गांवों में भी कोरोना मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही है। वहीं रिकवरी दर भी दस गुना बढ़ गई है। इस वजह से अधिकांश रोगी जल्दी ही स्वस्थ होकर घर लौट रहे हैं। यानी अब राहत मिलने की संभावना है।

आत्मनिर्भर: ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता 400 सिलेंडर होगी

जिला अस्पताल ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए जल्द आत्मनिर्भर बन जाएगा। वर्तमान में 90 सिलेंडर का ऑक्सीजन प्लांट लगा हुआ है। तीन नए ऑक्सीजन प्लांट की नींव 4 जून को मुख्यमंत्री गहलोत रखेंगे। मेडिकल एज्यूकेशन विभाग की ओर से पुराने अस्पताल की बिल्डिंग में 100 सिलेंडर क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा। इसके अलावा एचपीसीएल की ओर से ही इसी प्लांट के पास 150 सिलेंडर क्षमता का एक और ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा। यूआईटी बाड़मेर की ओर से एमसीएच सेंटर में 50 सिलेंडर क्षमता क ऑक्सीजन प्लांट लगाएंगे। ऐसे में कुल 400 सिलेंडर क्षमता के 4 ऑक्सीजन प्लांट तैयार होंगे।

भामाशाह कोलू बना रहे 25 बेड का आईसीयू वार्ड, एक करोड़ खर्च होंगे

जिला अस्पताल में 25 बेड का आईसीयू वार्ड तैयार हो रहा है। इसके लिए मेडिकल वेलफेयर सोसायटी की ओर से आईसीयू के लिए एक वार्ड को खाली करवा दिया है। भामाशाह पृथ्वी सिंह काेलू की ओर से करीब 1 करोड़ की लागत से गंभीर रोगियों के लिए ये आईसीयू वार्ड तैयार करवाया जा रहा है। इसके मशीनरी व काफी सामान अस्पताल पहुंच गया है। इसका काम भी जल्द पूरा होगा।

खबरें और भी हैं...