पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जाॅबकार्ड घोटाला:पांच साल में 350 फर्जी जॉबकार्ड से किया घपला शिकायत हुई तो फर्जी बताकर डिलीट करवा दिए

बाड़मेर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एक ही व्यक्ति के नाम से बनाए गए दो जॉबकार्ड - Dainik Bhaskar
एक ही व्यक्ति के नाम से बनाए गए दो जॉबकार्ड
  • इटादा का मामला, सरपंच-ग्रामसेवक ने किया फर्जीवाड़ा

इटादा ग्राम पंचायत में ग्रामसेवक-सरपंच व लिपिक ने मिलकर वर्ष 2015 से लेकर अब तक करीब 350 से अधिक जॉबकार्ड फर्जी बनाकर 100 दिन के रोजगार में चलाकर लाखों रुपए उठाए। इसमें अधिकांश जॉबकार्ड ऐसे गरीब व अनपढ़ लोगों के नाम के है, उन्हें यह भी पता नहीं है कि उनका जॉबकार्ड बना हुआ है। इनमें बैंक खाता नंबर सरपंच प्रतिनिधियों ने अपने रिश्तेदारों के डाले ताकि योजना के तहत काम के बदले आने वाली राशि सीधी उसी खाते में आए।

इसी तरह कई जॉबकार्ड दो-दो बनाए हुए है, इनमें एक में लाभार्थी का खाता नंबर जोड़ा गया और दूसरे में अपने चहेतों का। इनमें से फर्जी जॉबकार्ड को योजना के तहत चला दिया। जब वर्ष 2019 में शिकायतें हुई तो फर्जी जॉबकार्ड को डिलीट करवा दिया। इससे पहले अधिकांश को 100 दिन के रोजगार में चलाकर राशि उठा ली गई। इसके अलावा कई जॉब कार्ड ऐसे भी सामने आए है, जिनमें एक ही परिवार के दो-दो नाम, फर्जी पत्नी का नाम, दूसरे गांव के व्यक्ति के नाम से जॉबकार्ड बनाए गए है।

यूं किया फर्जीवाड़ा: एक ही व्यक्ति के दो जॉबकार्ड बनाए, 100 दिन चलाकर कर दिए डिलीट

सरपंच प्रतिनिधि के रिश्तेदार हैदर/सचू के दो जॉब कार्ड क्रमश: 8619363, 8619647, अकबर/ सचू के दो जॉबकार्ड 8611801 व 8619631 बनाए गए। इनको मनरेगा में 100 दिन चलाया और फिर शिकायत होने पर एक-एक को डिलीट करवा दिया और सौ दिन की राशि पहले ही उठा ली।

इसी तरह मीर खां/ हनीफ खां भी इनके रिश्तेदार है, इनका भामाशाह कार्ड उड़सीयार गांव का बना हुआ है और वहीं के निवासी है लेकिन इसके बावजूद इनका फर्जी जॉबकार्ड ईटादा में बनाकर योजना में चलाया गया और फर्जी तरीके से भुगतान उठा लिया। इसी तरह के सैकड़ों जॉबकार्ड ऐसे लोगों के बनाए जो अनपढ़ है और उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। इनमें खाता नंबर अपने स्तर पर फीड कर दिया और जैसे ही योजना के तहत पेमेंट हुआ तो उन्हें फर्जी बताकर डिलीट करवा दिया गया।

फर्जी जॉबकार्ड बनाकर उठाया भुगतान

^सरपंच व ग्रामसेवक ने मिलकर मेरे नाम का फर्जी जॉबकार्ड बनाया। इसको लेकर मुझे कोई सूचना नहीं थी। जब मुझे पता चला कि जॉबकार्ड संख्या 1319 के नाम से मेरा नाम चल रहा है तो मैने इस संबंध में शिकायत दर्ज करवाई। लेकिन तब तक 100 दिन योजना में जॉबकार्ड चल चुका था। जब मैने जॉबकार्ड की पूरी डिटेल निकलवाई तो उसमें मेरे खाता नंबर फीड नहीं थे और किसी दूसरे बैंक के खाता नंबर थे। पूरा भुगतान मेरे नाम से फर्जीवाड़े से उठा लिया। शिकायत के बावजूद आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।
-हिजात खां पुत्र रसूल खां

पंचायत ने जॉबकार्ड बनाया और चलाया

^मेरे नाम का जॉब कार्ड नंबर 1329 बनाया गया था। इसके बारे में मुझे कुछ भी जानकारी नहीं थी। जब इसके बारे में मुझे पता चला तो उससे सौ दिन का रोजगार दर्शाकर रुपए उठा लिए गए थे। इसके बाद जब इसकी पूरी जानकारी प्राप्त की तो उसमें खाता नंबर सरपंच प्रतिनिधि के किसी रिश्तेदार के फीड थे। बार-बार शिकायत करने पर जॉबकार्ड को फेक बताकर डिलीट कर दिया गया। लेकिन इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई, जबकि मेरे नाम से फर्जीवाड़ा किया गया।
-हामीद खां पुत्र मोहम्मद खां

​​​​​​​मेरा तो जाॅबकार्ड ही हटा दिया

^मेरा नरेगा योजना में काम के लिए जॉबकार्ड बनाने की मुझे जानकारी नहीं थी। मुझे अब पता चला कि मेरा जॉबकार्ड बनाया हुआ था और अब हटा दिया गया है। इसके बारे में जब पूरी जानकारी प्राप्त की तो उसमें खाता नंबर किसी दूसरे व्यक्ति के थे, जिसे में मैं नहीं जानता हूं। यह सब सरपंच व ग्राम सेवक ने अपने स्तर पर ही किया था। इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं थी। जब शिकायत हुई तो जॉबकार्ड हटा दिया गया।
-रजाक खां, निवासी ईटादा

फर्जी जॉबकार्ड की शिकायत नहीं मिली
^टांकों के संबंधित हमारे पास शिकायत आई थी, उसकी जांच करवाई गई है। टांके सही है। जॉब कार्ड में फर्जीवाड़े को लेकर अभी तक कोई शिकायत नहीं आई है। ऐसी शिकायत प्राप्त हुई तो जांच करवाकर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
-गोपाराम, बीडीओ, धनाऊ

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें