पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम का हाल:गडराराेड में पाैने 2 इंच बरसा पानी 4 डिग्री गिरा पारा, शहर में दिनभर उमस

बाड़मेर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाडमेर  | जिले में किसी जमाने में किसान ऊंट व बैलों से ही फसलों की बुआई करते थे, लेकिन पिछले कुछ सालों में ट्रैक्टरों का प्रचलन बढ़ने के बाद ऊंटों से जुताई का काम छूट गया। रतासर गांव के अर्जुनराम ऊंट से जुताई करते हुए। - Dainik Bhaskar
बाडमेर | जिले में किसी जमाने में किसान ऊंट व बैलों से ही फसलों की बुआई करते थे, लेकिन पिछले कुछ सालों में ट्रैक्टरों का प्रचलन बढ़ने के बाद ऊंटों से जुताई का काम छूट गया। रतासर गांव के अर्जुनराम ऊंट से जुताई करते हुए।
  • आज और कल भी जिले में तेज बारिश का येलो अलर्ट

लंबे इंतजार के बाद लौट कर आए मानसून से जिले के कई इलाकों में मूसलाधार और अच्छी बारिश हो रही है। बीते 24 घंटों में बाड़मेर जिले के गडरारोड में सबसे ज्यादा पौने दो इंच पानी बरसा है। दक्षिण-पश्चिम मानसून प्रदेश के कई हिस्सों पर मेहरबान है। मौसम विभाग के मुताबिक करीब 22 जुलाई तक बाड़मेर जिले में इसके सक्रिय रहने की संभावना है।

बुधवार-गुरुवार को भी जिले में तेज और अच्छी बारिश होने की संभावना है। बीते 24 घंटों में कई जगह मूसलाधार बारिश होने से किसान खेतों में बुवाई में जुट गए है। इस बार बारिश देरी से होने के कारण आधी जुलाई आने पर लोग खेती कर रहे हैं। मंगलवार को अधिकतम तापमान 4 डिग्री गिरावट के साथ 38 पर पहुंच गया।

जिले में बीते 24 घंटों में सबसे ज्यादा गडरारोड में 42 एमएम, सिवाना 29, पचपदरा में 12, रामसर में 10, बाड़मेर 3, बायतु 2, गिड़ा 8, सेड़वा 10, धोरीमन्ना 6, सिणधरी 13, बालोतरा 5 एमएम बारिश रिकाॅर्ड की गई। जिले के अधिकांश हिस्सों में अच्छी बारिश के बाद किसान खेतों में हल चला रहे है। बाजरा, मूंग, मोठ, ग्वार सहित कई फसलों की बुआई करने में जुट गई है। किसान ट्रैक्टरों से भी बुआई कर रहे है। अच्छी बारिश की आस में इस बार करीब 14 लाख हेक्टेयर में खेती का लक्ष्य रखा गया है।

खबरें और भी हैं...