पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • In The Joint Action Of The Border Security Force And The Police, The Infamous Smuggler Was Caught, Interrogation By Various Agencies, The Search For Other Smugglers Continues

मोस्ट वांटेड हेरोइन तस्कर हलिया गिरफ्तार:पाकिस्तानी तस्कर फोटिया के गोफन से फेंकी 7 किलो की हेराइन उठाई थी हलिया ने, एटीएस व पुलिस से बचने के लिए गुजरात में आम के खेतों में की मजूदरी

बाड़मेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्कर हलिया उर्फ हलीम गिरफ्तार - Dainik Bhaskar
तस्कर हलिया उर्फ हलीम गिरफ्तार

बीएसएफ और पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए मोस्ट वांटेड तस्कर हलिया उर्फ हलीम खां को शुक्रवार को गडरारोड़ क्षेत्र में मवेंशियों के तबले से गिरफ्तार कर लिया और अब विभिन्न एजेंसियों ने पूछताछ की है। जिसके बाद उसे बिजराड़ थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिया है। पुलिस और एटीएस से बचने के लिए ठिकाने बदल रहा था। इस दौरान वह अजमेर और सांचौर के साथ गुजरात में भी रहा। यहां उसने करीब 45 दिनों तक आम के खेतों में मजदूरी की।

बीएसएफ के इंस्पेक्टर जयसिंह को इनपुट मिला था कि हलिया उर्फ हलीम गडरा क्षेत्र में घूम रहा है इस सूचना पर कमांडेंट राजपाल सिंह ने कंफर्म कर लिया। इसके बाद बीएसएफ इंस्पेक्टर ने दस जवानों और पुलिस के मदद से पकड़ने का प्लान बनाया। शुक्रवार को बीएसएफ और रामसर और बिजराड़ थाने की पुलिस ने चांदे का पार गांव के पीरे के टीब्बा से उसे पकड़ा। इससे नाम पूछा तो उसने गलत नाम बताया फिर पूछताछ करने पर अपना हलिया उर्फ हलीम पुत्र आदम खां को गिरफ्तार किया।

कुख्यात तस्कर हलिया उर्फ हलीम
कुख्यात तस्कर हलिया उर्फ हलीम

बाड़मेर बीएसएफ डीआईजी विनित कुमार ने बताया कि 15 फरवरी को पाकिस्तान से हेरोइन का मुख्य आरोपी हलिया लम्बे समय फरार चल रहा था। कुछ दिन पहले इसके गागरिया क्षेत्र होने की सूचना मिली इस पर बीएसएफ इंस्पेक्टर जयसिंह और कमाडेन्ट राजपाल सिंह कन्फर्म कर लिया। शुक्रवार को पुलिस के सहयोग से उसे चांदे का पार गांव की पीरे के टीब्बा ढाणी से गिरफ्तार किया। हलिया को बिजराड़ पुलिस को सुपुर्द कर दिया। विभिन्न एजेन्सियां पूछताछ कर रही है और पूछताछ ओर कई खुलासे होने की उम्मीद हैं।

मवेशियों के तबेले से गिरफ्तार

फरवरी से हलिया लगातार फरार चल रहा था। इसने पुलिस और एटीएस से बचने के लिए बार-बार ठीकाना बदल रहा था। शुक्रवार को चांदे का पार गांव के पीरे का टीब्बा में मवेशियों के तबेले में छिपा हुआ था। वहां पर सीमा सुरक्षा बल और पुलिस ने घेर कर गिरफ्तार किया।

बार-बार बदल रहा ठीकाना

फरवरी में एटीएस और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में उसका साथी बचाया खा पकड़ा गया था। हलिया को भनक लगने के बाद से फरार चल रहा था। चार महीनों में हलिया 15 दिनों तक अजमेर रूका था। इससे पहले गुजरात के वापी क्षेत्र में आम खेत में मजदूरी भी की थी। सांचौर भी 10 दिनों तक रूका। कुछ दिन पहले ही बाड़मेर के गागरिया क्षेत्र में आया था।

तीन आरोपी पहले हो चुके है गिरफ्तार

बिजराड़ थाने में हेरोइन तस्करी प्रकरण में तीन आरोपी शिव आंतरा निवासी बचाया खा, मीरू खां को गिरफ्तार किया जा चुका है। पंजाब निवासी अग्रेजसिंह भी गिरफ्तार हो चुका हैं। अंग्रेजसिह को हेरोइन की सप्लाई होनी थी।

दस वर्ष तक था जेल में

हलिया उर्फ हलीम 60 किलो हेरोइन प्रकरण में पहले भी पकड़ा जा चुका है। इसको दस साल की सजा भी हुई थी। सितम्बर 2019 में यह जेल से बाहर आया था और जेल से बाहर कर इसने वापस तस्करी का नेटवर्क तैयार कर तस्करी शुरू कर दी थी। 15 फरवरी को पाकिस्तान के तस्कर फोटिया खान ने सात किलो हेरोइन भेजी थी।

यह था मामला

पाकिस्तान के कुख्यात तस्कर फोटिया खान ने 15 फरवरी को एक-एक किलो के सात पैकेट गोफन की मदद से तारबंदी पार कर भारत में फेंके थे। एटीएस और पुलिस को सूचना मिलने के दूसरे दिन ही सात किलो हेरोइन के साथ बचाया खां पुत्र शायब खां निवासी आंतरा को गिरफ्तार कर लिया था। एटीएस और पुलिस ने इस मामले में मीरू खां और पंजाब के तस्कर अंग्रेज सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया था।

खबरें और भी हैं...