पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जन संकल्प से हारेगा कोरोना:दाेनाें डाेज लगवाने के बाद संक्रमित, अब स्वस्थ हाेकर दे रहे सेवाएं

बाड़मेर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डाॅ. बीएल. मसूरिया, पीएमओ। - Dainik Bhaskar
डाॅ. बीएल. मसूरिया, पीएमओ।

जिला अस्पताल के पीएमओ व पीआरओ काेराेना वैक्सीन की दाेनाें डाेज लगाने के बाद भी पॉजिटिव हुए, लेकिन काेविशिल्ड की दाे डाेज लगने के कारण काेराेना काे हराकर पीएमओ सात दिन ताे पीआरओ चौदहवें दिन बाद काम पर लाैटें। इस दाैरान पीएमओ डाॅ. बीएल. मसूरिया ने ऑन काॅल अस्पताल की कमान संभाले रखी। पीएमओ काे हल्की खांसी और बदन दर्द हुआ और पीआरओ काे हल्का बुखार आने पर दाेनाें ने आटीपीसीआर टेस्ट करवाया। दाेनाें ही 17 अप्रैल काे पॉजिटिव हुए थे।

बेकाबू होते कोरोना संक्रमण को कोरोना टीका लगवाकर ही हराया जा सकता है। क्योंकि जिन लोगों ने टीके के दोनों डोज लगवा लिए उनको जब कोरोना वायरस ने अपनी चपेट में लिया तो बहुत कम समय में और बेहद सामान्य इलाज से ही कोरोना पर विजय पाने में सफल हुए। भास्कर ने दाेनाें डाेज लगवाने वाले लोगों से उनके अनुभव जाने। उनका कहना है दाेनाें डाेज के बाद न तो कोई गंभीर लक्षण ही सामने आए न किसी तरह की शारीरिक परेशानी हुई। अब पूरी तरह स्वस्थ हैं और जिला अस्पताल में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

7 दिन बाद रिपोर्ट निगेटिव आ गई ऑन काॅल व्यवस्थाएं संभाली: पीएमओ
17 जनवरी को पहला और 15 फरवरी को दूसरा काेविशिल्ड का डाेज लगावाया था। 17 अप्रैल को हल्की खांसी व बदन दर्द हुआ और आरटीपीसीआर रिपोर्ट करवाई। काेराेना जांच पॉजिटिव आई। इस दाैरान एचआरसीटी भी करवाई स्काेर 7 आया। होम क्वारेंटाइन होकर काेविड का ट्रीटमेंट लिया। दो-तीन दिन में हल्की खांसी और बदन दर्द रहा। आठ दिन में रिपाेर्ट निगेटिव हो गई। - डाॅ. बीएल. मसूरिया, पीएमओ।

दोनों डोज के बाद मैं संक्रमित हुआ अब स्वस्थ हूं और ड्यूटी कर रहा हूं

मैंने भी काेविशिल्ड की दाेनाें डाेज पीएमओ साथ ही लगवाई। कोरोना संक्रमित भी दाेनाें साथ ही हुए। मुझे हल्का बुखार हुआ तो मैंने भी जांच कराई, तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इस बीच इलाज के दाैरान पैरासिटामाेल, एजीथ्राेमाइसिन, विटामिन सी व कफ सिरप ली। छठे दिन व नवें दिन भी आरटीपीसीआर रिपाेर्ट पॉजिटिव रही। 11वें दिन निगेटिव हुआ और दाे दिन बाद काम पर लाैटा। इस बीच औऱ काेई दूसरी परेशानी नहीं हुई। - जाेगेंद्र माली, पीआरओ, जिला अस्पताल।

दाेनाें डाेज लगने के बाद मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत न के बराबर

यह फाइंडिंग्स हैं कि जिन लोगों को दोनों टीके लगे उनमें संक्रमण होने के बाद भी गंभीर लक्षण नहीं पाए गए। ऐसे मरीजों की ऑक्सीजन डिपेंडेंसी न के बराबर है। सिंगल डोज जिनको लगा उनको भी संक्रमण बहुत ज्यादा डेमेज नहीं कर पाया है। काेराेना वैक्सीनेशन के कारण सीटी स्केन में संक्रमण का स्कोर बेहद कम आया। संक्रमित होने के बाद रिकवरी जल्दी हुई औरर 7-8 दिन में रिपोर्ट निगेटिव आ रही हैं। -डाॅ. विक्रम सिंह, फिजिशियन, जिला अस्पताल।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें