ऑपरेशन सफल:जैसलमेर की युवती छत से गिरी, बाड़मेर में इलीजाराे तकनीक से किया ऑपरेशन

बाड़मेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाड़मेर, युवती का सफल ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर। - Dainik Bhaskar
बाड़मेर, युवती का सफल ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर।

जिले में कोरोना कहर के दौरान जिला अस्पताल के वार्ड फुल होने के बावजूद भी जैसलमेर की एक युवती के पैर, रीढ़ तथा हाथ में फैक्चर का सफल ऑपरेशन किया गया। युवती के पैर की एड़ी पूरी तरह से चकनाचूर हो चुकी थी। हड्डी एवं जोड़ रोग विशेषज्ञ डॉ. सवाईसिंह राठाैड़ ने एड़ी की हड्डी (कल्केनीयस) का ऑपरेशन ढाई घंटे किया।

जैसलमेर से युवती काे जोधपुर के लिए रेफर किया गया था, लेकिन मरीज के परिजनों ने बाड़मेर जिला अस्पताल पर विश्वास जताया और यहां के डॉ. सवाईसिंह राठाैड़ से संपर्क किया। ऑर्थो के डॉक्टर तथा पीएमओ ने युवती को एमसीएच विंग के इंचार्ज गायनिक एसोशिएट प्रोफेसर डॉ. कमला वर्मा, डॉ. सीमा मित्तल तथा डॉ. खेताराम सोनी की सलाह पर विंग के पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड में भर्ती किया।

जैसलमेर निवासी 20 वर्षीय आशा कपड़े सुखाते समय दो मंजिला घर के ऊपर से गिर गई थी। इससे रीढ़ की हड्डी, हाथ तथा दोनों पैरों की एड़ी की हड्डी (कल्केनीयस) बुरी तरह टूट गई। कोरोना के कहर के बीच जिला अस्पताल में सभी वार्ड फुल हाेने पर पीएमओ डाॅ. बीएल. मसूरिया तथा ऑर्थाे के डाॅक्टर के कहने पर उसे एमसीएच विंग में भर्ती किया गया।

ऑर्थाे विभागाध्यक्ष डाॅ. रमेश कुमार, डाॅ. सवाईसिंह राठाैड़, एनेस्थेसिया विभागाध्यक्ष डाॅ. मदनलाल शारदा, डाॅ. भीमराज, नर्स ग्रेड प्रथम ओटी इंचार्ज छोगालाल साेनी, ओपी सिंह, ओटी हेल्पर खरथाराम की टीम ने इलीजाराे तकनीक से सफल ऑपरेशन किया गया। इलीजाराे तकनीक में मरीज के किसी प्रकार का चीरा व टांका नहीं लगाया जाता है। भामाशाह याेजना के तहत ऑपरेशन पूर्णतया निशुल्क किया गया।

कपड़े सुखाने के दाैरान दूसरी मंजिल से गिर गई थी। इसके बाद जैसलमेर अस्पताल में भर्ती करवाया। एड़ी, हाथाें तथा रीढ़ की हड्डी में फैक्चर था। वहां से जोधपुर के लिए रेफर किया गया, लेकिन चचेरे भाई ने जिला अस्‍पताल आने की सलाह दी। निशुल्क ऑपरेशन किया गया। फिलहाल स्वस्थ हूं।-आशा, जैसलमेर ।

मरीज काे गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया था। डाॅक्टर्स से सलाह के बाद इलीजाराे तकनीक से ढाई घंटे के दाैरान ऑपरेशन किया गया। मरीज स्वास्थ्य है। उसे डिस्चार्ज कर दिया गया है। गायनिक विभाग के सहयाेग से बेड की व्यवस्था करवाई गई। - डाॅ. सवाईसिंह राठाैड़, हड्डी एवं जाेड़ राेग विशेषज्ञ।

अस्पताल में गंभीर राेगियाें के ऑपरेशन लगातार किए जा रहे हैं। काेविड के दाैरान बेड फुल हाेने पर गायनिक विभागाध्यक्ष डाॅ. कमला वर्मा काे बेड की व्यवस्था के लिए कहा गया और मरीज काे एमसीएच विंग में भर्ती किया गया। भामाशाह याेजना के तहत निशुल्क ऑपरेशन किया गया। - डाॅ. बीएल मसुरिया, पीएमओ।

खबरें और भी हैं...