पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Jan Jagran Abhiyan Started Under The Banner Of Population Samadhan Foundation, Gyandev Ahuja Said Where The Country Is Divided Where Hindus Are Less.

दो से अधिक बच्चों पर समाप्त हो वोट का अधिकार:जन जागरण अभियान का हुआ आगाज, ज्ञानदेव आहूजा बोले- जनसंख्या नियंत्रण कानून हो लागू, बेरोजगारी बढ़ने के कारण अपराध बढ़ रहा

बाड़मेर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नारायण चौधरी और ज्ञानदेव आहूज� - Dainik Bhaskar
नारायण चौधरी और ज्ञानदेव आहूज�

जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने की मांग को लेकर जनसंख्या समाधान फाउंडेशन अभियान चला रहा है। रविवार को बाड़मेर पहुंचे। बीजेपी कार्यकर्ताओं और स्व जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के प्रदेशाध्यक्ष नारायणराम चौधरी और प्रदेश संरक्षक ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि जनसंख्या वृद्धि होने से संसाधन सीमित होते जा रहे हैं। देश में बेरोजगारी, भुखमरी, हेल्थ संबंधी समस्याएं बढ़ती जा रही हैं। इस जन आंदोलन से राज्य और केन्द्र की सरकारों से मांग की जा रही है कि जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करें।

जिला मुख्यालय जाट चैरिटेबल ट्रस्ट में आयोजित जनसंख्या समाधान को लेकर बैठक में फाउंडेशन के पदाधिकारियों ने जिले भर के भाजपा व RSS से जुड़े हुए पदाधिकारियों की बैठक ली। इस मुहिम को हर घर तक पहुंचा कर आमजन को इससे जोड़ने का आह्वान किया है। इस जन जागरण अभियान को घर-घर पहुंचाने के लिए भाजपा नेता रमेश सिंह इंदा को कार्यक्रम का संयोजक बनाया गया है। फाउंडेशन 21 जिलों की यात्रा कर चुका है।

ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण को लेकर दो सोच है। एक तो भौतिक सोच है, देश की सरकारें शुद्ध पानी, सड़कें, रेल, हवाई जहाज, स्कूल, कॉलेज, अस्पताल सहित कितनी भी व्यवस्था कर दे लेकिन वह कम पड़ रही है। देश में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। बेरोजगारी बढ़ने के कारण अपराध बढ़ रहा है।

जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के प्रदेश अध्यक्ष नारायण चौधरी ने कहा कि बढ़ती आबादी का समाधान जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाकर किया जा सकता हैं। इसको लेकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन के जरिए एक जन जागरण अभियान के माध्यम से जनमत को साथ लेकर कानून बनाने की मांग की जा रही हैं। देश में बेकाबू होते जनसंख्या के हालात पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि सरकार को जनसंख्या नियंत्रण अधिनियम संसद में पेश करके कानून बनाना होगा। दो से अधिक बच्चा पैदा होने पर उसका वोट का अधिकार व सरकारी सुविधाएं समाप्त की जाए।

खबरें और भी हैं...