धार्मिक शिक्षण नैतिक संस्कार शिविर:झमु सिंघवी बोलें- बच्चों में संस्कार निर्माण में शिविर अहम

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्री अखिल भारतीय युवक परिषद के तत्वावधान में 15 दिवसीय धार्मिक शिक्षण एवं नैतिक संस्कार शिविर का आयोजन स्थानीय स्थानक भवन में किया जा रहा है। इस शिविर में प्रतिदिन 125 से अधिक बच्चे पहुंच रहे हैं। इन बच्चों को नैतिक संस्कारों के साथ ही धार्मिक शिक्षण से भी अवगत कराया जा रहा है। शिविर संयोजक मूलजी गोगड़ एवं अध्यक्ष ताराचंद चौपड़ा की देखरेख में आयोजित किया जा रहा है।

इस शिविर में झमु सिंघवी, शिवानी सेठिया, रेणु गांग, राजल लुणिया, जसराज गोलेच्छा, कुमकुम धारीवाल, रुचिका बोथरा, अर्पिता सुराणा एवं निकिता सेठिया निरंतर अध्यापन सेवाएं दे रहे हैं। झमु सिंघवी ने बताया कि बच्चों में संस्कार का बीज अंकुरित करने के साथ ही उनमें जैन धर्म का ज्ञानवर्धन के लिए शिविर की अहम भूमिका हैं।

जसराज गोलेच्छा ने बताया कि आज के समय मे पाश्चात्य संस्कृति का प्रभाव ज्यादा पड़ रहा है। इसको रोकने और बच्चों में संस्कार का बीज अंकुरित करने के लिए इस शिविर का आयोजन किया जा रहा ताकि बच्चों में धार्मिक शिक्षा व संस्कारों में वृद्धि हो सके। शिविर के दौरान बच्चों के लिए अल्पाहार एवं पुरस्कार वितरण की गतिविधि भी निरंतर कार्यरत है। 21 मई से शुरू हुआ ये शिविर 5 जून तक चलेगा।

खबरें और भी हैं...