• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Locked The PG College And Closed The Staff, Took Out After Explaining, Said The Performance Will Continue Till The Transfer Is Not Canceled

पीजी कॉलेज पर ताला जड़ स्टाफ को किया बंद:3 लेक्चरर्स के तबादले से नाराज स्टूडेंट्स कॉलेज के मेन गेट पर ताला लगाकर धरने पर बैठे, बोले व्याख्याता पहले से कम हम पढ़ाई कैसे करेंगे

बाड़मेर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाड़मेर पीजी कॉलेज गेट पर लगाया ताला। - Dainik Bhaskar
बाड़मेर पीजी कॉलेज गेट पर लगाया ताला।

पीजी कॉलेज के तीन लेक्चरर का ट्रांसफर होने से गुस्साए कॉलेज स्टूडेंट्स गुरुवार को कॉलेज के मेन गेट पर ताला लगा कर धरने पर बैठ गए। ताला लगाने से कॉलेज का स्टाफ अंदर ही बंद हो गया। स्टूडेंट्स बोले, पहले से कॉलेज में लेक्चरर के पद रिक्त हैं। इसके बावजूद तीन अलग-अलग सब्जेक्ट के लेक्चरर का ट्रांसफर कर स्टूडेंट्स के साथ अन्याय किया जा रहा है।

कॉलेज के बाहर टेंट लगातार धरने पर बैठे स्टूडेंट‌्स।
कॉलेज के बाहर टेंट लगातार धरने पर बैठे स्टूडेंट‌्स।
कॉलेज के बाहर टेंट लगा टेंट।
कॉलेज के बाहर टेंट लगा टेंट।

पीजी कॉलेज में 33 पद लेक्चरर के स्वीकृत हैं इसमें 19 लेक्चरर लगे हुए थे। इसमें एक लेक्चरर का ट्रांसफर पहले हो गया था। इनके ट्रांसफर का विरोध करने पर मेडिकल समस्या बताकर हमारा विरोध दबा दिया गया था, लेकिन बुधवार को एक साथ पीजी कॉलेज से हिन्दी सब्जेक्ट के नवल किशोर, वनस्पति शास्त्र सब्जेक्ट के नवीन और अंग्रेजी सब्जेक्ट लेक्चरर के ज्योति सिसोदिया का ट्रांसफर कर दिया गया है। इससे गुस्साए स्टूडेंट्स ने गुरुवार को कॉलेज के मुख्य गेट व अंदर के गेट पर ताला लगा दिया और बाहर धरने पर बैठे गए। इससे पीजी कॉलेज के लेक्चरर और स्टॉफ अंदर बंद हो गए।

पीजी कॉलेज में तैनात पुलिस जाब्ता।
पीजी कॉलेज में तैनात पुलिस जाब्ता।

पीजी कॉलेज के तालाबंदी की सूचना मिलने पर पुलिस जाब्ता तैनात किया गया। एसडीएम रोहित चौहान और डीएसपी आनंद राजपुरोहित भी मौके पर पहुंचे। इन्होंने स्टूडेंट्स के साथ वार्ता की और उनका जो मांग-पत्र भी ले लिया है। स्टूडेंट्स को समझाने के बाद कॉलेज में बंद लेक्चरर व स्टॉफ को बाहर निकाला गया। स्टूडेंट‌ प्रवीण सिंह मिठड़ी ने कहा कि पहले कॉलेज में लेक्चरर के पद रिक्त हैं और अब तीन लेक्चरर का ट्रांसफर कर दिया गया। बिना लेक्चरर पढ़ाई कैसे होगी। पहले से कोरोना की वजह से पढ़ाई नहीं हो पा रही थी। अब कॉलेज खुला तो ट्रांसफर कर दिए गए। हमारी तो एक ही मांग है लेक्चरर के ट्रांसफर निरस्त करें। अन्यथा हम कॉलेज गेट पर ताला लगा कर यहीं बैठे रहेंगे।

कॉलेज स्टॉफ अंदर बंद।
कॉलेज स्टॉफ अंदर बंद।

एसडीएम रोहित कुमार चौहान के मुताबिक स्टूडेंट‌्स के मांग-पत्र को ले लिया है। कॉलेज परिसर में बंद लेक्चरर व स्टॉफ को बाहर निकाल दिया है। इनकी मांगों को कलेक्टर के माध्यम से सरकार तक पहुंचाया जाएगा। इनकी मांग है कि लेक्चरर का ट्रांसफर निरस्त करें अन्यथा अन्य लेक्चरर लगाए जाए।

खबरें और भी हैं...