बड़ी लापरवाही:जिला अस्पताल में सैंपल के लिए लंबी लाइन, न साेशल डिस्टेंस न गाइडलाइन की पालना

बाड़मेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला अस्पताल में काेविड-19 का सैंपल देने के लिए सैकड़ाें की भीड़ लगनी शुरू हो गई है। इसमें से अधिकांश लोग बाहरी राज्यों से मजदूरी व अन्य कार्यों से लौटने वाले लोग है। ऐसे में कोरोना संक्रमण का खतरा ज्यादा बढ़ रहा है। जिला अस्पताल में दो कोविड जांच सेंटर बनाए हुए है। सुबह से ही यहां पर लोगों को लाइन लगनी शुरू हो जाती है। लेकिन इनमें न तो स्व अनुशासन है और न ही गाइडलाइन की पालना हो रही है। ऐसे में बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों से स्थानीय लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है।

इस वजह से स्थितियां आने वाले समय में और भी भयानक हो सकती है। यही हाल उपखंड मुख्यालयों पर स्थित अस्पतालों की है। सेंपल देने आने वाले लोग लापरवाही बरत रहे है। सबसे ज्यादा खतरा यहीं से शुरू होता है। अस्पताल प्रशासन व पुलिस को इस मामले को गंभीरता से लेकर सेंपल देने आने वाले लोगों को सोशल डिस्टेंस की पालना करवाना जरुरी है।

जिले में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लॉकडाउन लगा हुआ है। कोरोना गाइलाइन के चलते जिले में दुकानदारों को सुबह 6 बजे से दोपहर 11 बजे तक दुकानें खोलने की अनुमति दी गई है। इस दौरान बुधवार को बाड़मेर शहर में पुलिस प्रशासन नेे गाइडलाइन की पालना नहीं करने वालों से समझाइश की गई तथा नहीं मानने पर हल्का बल प्रयोग कर कार्रवाई की गई। कोरोना महामारी में आमजन लापरवाही से दिनभर सड़काें पर बिना काम घूमते देखे गए और दुकानें बंद करने के आदेश के बावजूद भी कई स्थानों पर आधे शटर खुले नजर आए तथा दुकानों पर भीड़ दिखाई दी।

इस दौरान बुधवार शाम को पुलिस प्रशासन ने टाउन हॉल, सेवा सदन, रेलवे स्टेशन, स्टेशन रोड, इलोजी बाजार, सुभाष चौक, ढाणी बाजार, अंबेडकर सर्किल, गडरा रोड, चामुंडा चौराहा, शहीद चौराहा पर लापरवाह लोगों पर हल्का बल प्रयोग भी किया। शहर की कई गलियां बेरिकेड्स लगाकर बंद की गई है।

खबरें और भी हैं...