आटे-साटे ने ली बुजुर्ग की जान:चल रहे सगाई समारोह में मामा-बुआ परिवार में हुआ झगड़ा

बाड़मेर3 महीने पहले
जिला अस्प्ताल में डॉक्टरों ने बुजुर्ग महिला को किया मृत घोषित। - Dainik Bhaskar
जिला अस्प्ताल में डॉक्टरों ने बुजुर्ग महिला को किया मृत घोषित।

बाड़मेर शहर में आटे-साटे के एक विवाद ने 60 साल बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। वहीं परिवार के आपसी झगड़े में भाणेज घायल हो गया,जिसका इलाज बाड़मेर के डिस्ट्रीक्ट हॉस्पिटल में चल रहा है। मामला शहर के सरदारपुरा का है। यहां रविवार को सगाई समारोह चल रहा था। इसी दौरान आटे-साटे के विवाद को लेकर हंगाम शुरू हो गया। इस दौरान बीच बचाव करने आई 60 साल की सुशीला को धक्का मार दिया। कुछ देर बाद वह बेहोश होकर जमीन पर गिर गई। इसके कुछ देर बार मौत हो गई। पुलिस ने शव को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। पुलिस ने बताया कि दोनों परिवार रिश्ते में बुआ-मामा है।

मृतका सुशीला।
मृतका सुशीला।

यह है मामला

दरअसल, सरदारपुरा निवासी किशनलाल की बेटी चुकी की शादी 15 वर्ष पहले आटे-साटे में संजय के साथ हुई थी। उस समय संजय की बहन ममता की शादी आटे-साटे में पवन के साथ हुई थी। पवन के पिता मेवाराम के परिवार ने किशनलाल के परिवार को कहा था कि तुम्हारें बेटे की शादी के समय आटे (लड़की) दे देंगे। लेकिन बीते कुछ समय बुजुर्ग महिला का परिवार बुआ के घर पर साटे के लिए चक्कर लगा रहा है लेकिन पीड़ित परिवार को कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे थे। रविवार को पवन की भतीजी रक्षा पुत्री पुखराज की सगाई प्रोग्राम चल रहा था। किशनलाल व उसकी पत्नी सुशीला व बेटा हितेश उसके घर साटा मांगने गए। किशनलाल और मेवाराम दोनों बुआ-मामा के भाई है। पवन की भतीजी की शादी होने पर सुशीला हितेश के लिए साटा मांगने गई थी। इसी को लेकर दोनों परिवारों में कहासुनी के बाद विवाद बढ़ गया। दोनों के बीच हाथापाई शुरू हो गई। हाथापाई के बाद बुजुर्ग किशनलाल को धक्का लगा बेटा हितेश उसे वहां से लेकर चला गया। इसके बाद बुजुर्ग सुशीला (60) मकान में ही बेहोश होकर गिर गई। झगड़े में भाणेज पवन भी घायल हो गया है। जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

45 मिनट तक पड़ी रही घर पर
बुजुर्ग के बेटे हितेश का कहना है कि घर में मेरी मां के साथ मारपीट हुई या क्या हुआ मुझे पता नहीं है लेकिन करीब 45 मिनट तक बेहोशी की हालात में वहीं पड़ रही है। अगर समय रहते संभाला लेते तो मां की जान नहीं जाती है। वहीं दूसरे पक्ष के घायल पवन (मेवाराम सिंघवी का बेटा) का कहना है कि घर पर मेरे भाई की बेटी की सगाई का प्रोग्राम चल रहा था। मेरी मामा-मामी बच्चे लेनदेन के विवाद के चलते घर पर आए। मामा के लड़के ने हमारे उपर हमला कर दिया। पहले बच्ची हमने ली थी। मैं बेटी को वापस देने के लिए तैयार था लेकिन वह माने नहीं। मामा के बेटे हितेश ने आकर मारपीट शुरू कर दी है। इससे घायल हो गया। डीएसपी आनंदसिह राजपुरोहित के मुताबिक शहर में एक परिवारिक विवाद के चलते एक बुजुर्ग महिला की मौत हुई है। शव को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है।

पुलिस ने सीसीटीवी खंगाले, एफएसएल टीम ने जुटाए साक्ष्य

पुलिस ने घटना के बाद आसपास के सीसीटीवी फुटेज को खंगाले है। वहीं, एफएसएल की टीम मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाए है। पुलिस पूरे मामले की तहकीकात कर रही है। जांच के बाद भी स्पष्ट हो पाएगा कि बुजुर्ग महिला की मौत कैसे हुई है।