दरु़ड़ा व शिव भाखरी की घटनाएं:काम काे लेकर मां ने डांटा तो आत्महत्या का प्रयास, एक की मौत, बालिका घायल

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बाड़मेर ग्रामीण थाना क्षेत्र के दरुड़ा और शिव भाखरी नांद इलाके में एक युवक और एक बालिका ने आत्महत्या का प्रयास किया। बताया जा रहा है दोनों मामलों में मां ने घरेलू कामकाज को लेकर डांटा तो आत्महत्या कर ली। इसमें युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरे मामले में बालिका जहर खाने से घायल हुई है और जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

बाड़मेर ग्रामीण थाना के रीडर हैड कांस्टेबल पदमपुरी ने बताया कि दरूड़ा निवासी रमेश पुत्र किशनलाल भील ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसका भाई जगदीश उर्फ जगाराम 19 वर्ष जो बेरोजगार है। पूर्व में ड्राइवर था। बुधवार शाम को 5.30 बजे मां ने उसके शराब पीने और काम नहीं करने को लेकर मां ने डांटा था।

इसके बाद आवेश में आकर जगदीश ने पड़ोसी जूमा खां के खेत में जाकर रोहिड़े के पेड़ से फंदा लगा आत्महत्या कर ली, इससे उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया।

मां ने डांटा तो बालिका ने चूहे मारने की दवा खाई
बाड़मेर ग्रामीण थाना क्षेत्र के शिव भाखरी निवासी एक 18 वर्षीय बालिका को उसकी मां ने घरेलू काम काज को लेकर डांटा तो गुस्से में बालिका ने घर में रखी चूहे मारने की दवा खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। इसके बाद उसे गंभीर घायलावस्था में जिला अस्पताल में भर्ती करवाया। नाबालिग 12वीं में पढ़ती है। मां ने मामूली बात पर उसे घरेलू काम के लिए बोला था, इस पर बालिका ने गुस्से में नशीला पदार्थ खा लिया।

गुस्से में पत्नी ने दर्दनिवारक 10 गोलियां खाई
बाड़मेर ग्रामीण थाना क्षेत्र के धनोड़ा निवासी कमला पत्नी दुर्गाराम भील को बुखार आ रहा था। इस पर पति ने उसे बुखार की टेबलेट लेने के लिए बोला था। पत्नी ने गुस्से में दर्द निवारक टेबलेट की 10 गोलियां ही खा ली। इससे वो बेहोश हो गई, उसे जिला अस्पताल में भर्ती करवाया है। फिलहाल बेहोशी की हालत में होने से पुलिस बयान दर्ज नहीं कर पाई।

खबरें और भी हैं...