पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परियोजना का उद‌्घाटन:बाड़मेर से शुरू हुआ नंद घर प्राेजेक्ट, वाराणसी में हुआ 1500वें केंद्र का उद‌्घाटन

बाड़मेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वेदांता नंद घर प्राेजेक्ट की शुरुआत बाड़मेर के 50 नंद घरों से हुई, अब सात राज्यों में सैकड़ों नंद घर बनाए

देश के आंगनबाड़ी केंद्रों को नए रूप में सामने लाने वाले वेदांता नंद घर प्रोजेक्ट ने एक महत्वपूर्ण पड़ाव शनिवार को हासिल किया। इस पड़ाव के रूप में 1500वें नंद घर का उद‌्घाटन केंद्रीय वस्त्र एवं महिला व बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने ऑनलाइन किया।

देश के पहले 50 नंद घरों की शुरुआत के लिए बाड़मेर जिले में सरकार द्वारा चयनित स्थानों पर वेदांता के सहयोग से मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र निर्मित किए गए थे। फरवरी 2017 में बाड़मेर के बायतु भोपजी में इसकी शुरुआत की गई थी। शनिवार को वाराणसी के काशी विद्यापीठ ब्लॉक का सुरही गांव 1500वें नंद घर के शुभारंभ का गवाह बना। ये नंद घर, वेदांता समूह की ग्रामीण विकास और सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत प्रमुख कार्यक्रम है। केंद्रीय मंत्री ने वर्चुअल तरीके से वाराणसी के इस नए केंद्र का शुभारंभ किया।

इस अवसर पर उन्होंने बाड़मेर के अलावा ओडिशा के लांजीगढ़ जिले के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और नंद घर लाभार्थियों से बातचीत की। उन्होंने महिलाओं और बच्चों के जीवन में बुनियादी स्तर पर बदलाव लाने के लिए वेदांता की सराहना की। उन्होंने कहा की आंगनबाड़ी के स्वरूप को मॉडल रूप में बदलकर ग्रामीण महिलाओं और बच्चों में बदलाव सुनिश्चित किया गया है।

2015 में नंद घर की शुरुआत 13.7 लाख आंगनबाड़ी 8.5 करोड़ बच्चों और दो करोड़ महिलाओं के जीवन को बदलने की दृष्टि से हुई थी। नंद घर, वेदांता के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल के ड्रीम प्रोजेक्ट मॉडल आंगनबाड़ियों का एक नेटवर्क है जहां बच्चों महिलाओं और स्थानीय समुदायों के समावेशी विकास पर बल दिया जाता है। ये केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्रालय के सहयोग से स्थापित किए गए हैं।

बेहतर भविष्य के लिए कदम

वेदांता के अग्रवाल ने कहा कि मुझे यह देखकर प्रसन्नता है कि नंद घर देश भर में ग्रामीण महिलाओं और बच्चों के जीवन में बदलाव लाने में सफल हुई है। हम प्रधानमंत्री द्वारा, बच्चों में कुपोषण दूर करने, शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने और कौशल विकास के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने के दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है और नंद घर इस परिवर्तन का प्रतिनिधित्व करेगा। मेरे मन में कोई संदेह नहीं है कि नंद घर मां और बच्चों के लिए बुनियादी स्तर पर बेहतर भविष्य प्रदान करने में सफल साबित हो रहा है।

चार करोड़ सामुदायिक सदस्य होंगे लाभान्वित

1500 केंद्रों के साथ नंद घर परियोजना अब राजस्थान, उड़ीसा, उत्तर प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और मध्य प्रदेश में संचालित की जा रही है। इस परियोजना का लक्ष्य 4 करोड़ सामुदायिक सदस्यों के जीवन को लाभान्वित करना है साथ ही लगभग दो लाख बच्चों और 1.8 लाख महिलाओं को वार्षिक आधार पर लाभ पहुंचाना है।

नंद घर में 24 घंटे बिजली सुनिश्चित करने के लिए सौर पैनल, वाटर प्यूरीफायर, स्वच्छ शौचालय और स्मार्ट टेलीविजन सेट है जो कि स्थानीय समुदायों के लिए एक मॉडल संसाधन केंद्र बन गए हैं। इनमें 3 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों को प्री स्कूल शिक्षा प्रदान की जाती है।

बच्चों, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए पौष्टिक भोजन और टेक होम राशन प्रदान किया जा रहा है। नंद घर समुदाय की महिलाओं के लिए कौशल विकास केंद्र के रूप में उपयोग कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्हें व्यापार कौशल हेतु प्रशिक्षित किया जाता है। मोबाइल स्वास्थ्य व अन्य के माध्यम से प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें