कार्यक्रम का आयोजन:नायक बोले - नवाचारों को मूर्त रूप देना ही शिक्षा का मूल उद्देश्य

सेड़वा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राउमावि सोनड़ी में विद्यार्थियों ने बनाए विज्ञान, पर्यावरण व प्रकृति से जुड़े मॉडल्स, शिक्षकों को समझाया

ग्राम पंचायत सोनड़ी स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 6 से 10 तक के विद्यार्थियों में नवाचार की भावना विकसित करने एवं विज्ञान, पर्यावरण और प्रकृति को लेकर उनके मन में उठ रहे प्रश्नों को मूर्त रूप देने को लेकर बुधवार को विद्यालय में मॉडल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। मॉडल प्रतियोगिता के दौरान विद्यालय के प्रधानाचार्य रमेश कुमार नायक ने कहा कि विद्यार्थी के मन में जो विचार आते हैं उन विचारों को प्रदर्शित करने का अवसर देना शिक्षा का मुख्य उद्देश्य है।

जब तक बच्चे के मन में आ रहे विचारों को धरातल पर दिखाया नहीं जाएगा। तब तक बच्चे की उस विषय के प्रति रुचि आगे नहीं बढ़ पाएगी। विद्यालय के विज्ञान व कृषि संकाय के प्रभारी लवकुमार सिंधी ने बताया कि कक्षा 6 से 10 तक विद्यार्थियों को विद्यालय स्तर पर प्रतिभाशील विद्यार्थियों द्वारा विज्ञान एवं पर्यावरण संरक्षण के संबंध में नवाचार को ध्यान में रखते हुए मॉडल प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस मॉडल प्रदर्शनी में 25 विद्यार्थियों ने भाग लिया, इनमें से 5 विद्यार्थियों के मॉडल का चयन इंस्पायर अवार्ड मानक योजना 2021 के लिए किया गया।

इस प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका संस्था प्रधान रमेशकुमार नायक, शंकरलाल खिलेरी, रामकिशन जांगू, सोहनलाल खीचड़, नरेश कुमार पाटिडिया, सांगाराम मेघवाल, श्रीराम विश्नोई ने निभाई। विद्यालय स्तर पर आयोजित इस मॉडल प्रदर्शन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान कक्षा 8 की छात्रा राधा पुत्री जयकिशन गोदारा ने प्राप्त किया। विद्यालय के संस्था प्रधान रमेश कुमार नायक द्वारा सभी प्रतिभागियों को पुरस्कृत करते हुए पारितोषिक प्रदान किया गया।

खबरें और भी हैं...