पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Pakistani Smuggler Roshan Khan, A Relative Of Akbar, Gave Savar Khan A Consignment Of Fake Notes From The Navatla Border, Roshan Was Already A Smuggler Of Heroin And Fake Notes

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तफ्तीश:अकबर के रिश्तेदार पाकिस्तानी तस्कर रोशन खां ने नवातला बॉर्डर से सावर खां को दी थी नकली नोटों की खेप, रोशन पहले से हेराेइन और नकली नोटों का तस्कर

बाड़मेर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नकली नोटों की तस्करी, मुख्य सरगना की धरपकड़ जारी

करीब छह साल बाद बाड़मेर जिला नकली नोटों की तस्करी से फिर सुर्खियों में आ चुका है। बॉर्डर से सटे बाखासर इलाके में मिली करीब 6.55 लाख रुपए के 500-500 के नकली नोटों की खेप ने कई सवाल खड़े कर दिए है। वर्ष 2014 के बाद एक बार फिर पाक तस्कर रोशन खां का नाम सुर्खियों में है।

बाड़मेर में नकली नोटों की खेप में पकड़े गए आरोपियों से अब तक की हुई पूछताछ में पाक तस्कर रोशन खां का नाम सामने आया है। पाक तस्कर रोशन खां ने ही पाक आईएसआई की मदद से नकली नोटों की खेप भारत-पाक के नवा तला तारबंदी इलाके से भारत में रह रहे पराड़िया निवासी अकबर खां के लिए सावर खां को सप्लाई की थी।

पाक तस्कर इससे पूर्व भी 2014 में नकली नोट, हेरोइन की तस्करी में भी लिप्त रहा है। पराड़िया निवासी अकबर खां का रिश्तेदार भी है। ऐसे में अकबर और रोशन खां के बीच नकली नोटों की खेप को लेकर बातचीत भी होती रही है। हिरासत में लिए गए आरोपियों से पूछताछ में हुए खुलासे के बाद अब पुलिस पूरे मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। छह टीमें गठित कर अलग-अलग जगह दबिश देने के अलावा पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।

भास्कर पड़ताल: पाकिस्तानी तस्कर रोशन खां आईएसआई की मदद से भारत में नकली नोटों का फैला रहा जाल, सुरक्षा एजेंसियां जांच में जुटी

बाड़मेर में छह साल बाद आई नकली नोटों की खेप

बाड़मेर में वर्ष 2014 में बॉर्डर पार से पाक तस्कर रोशन खां ने नबिया व अन्य तस्करों को नकली नोट, हेरोइन तस्करी की चार बार खेप पहुंचाई थी। काफी दिनों तक मामला गर्माया था और करीब दो दर्जन आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। इसके बाद अब एक बार फिर बाड़मेर नकली नोटों की तस्करी से सुर्खियों में है। पुराने पाक तस्कर रोशन खां से तार जुड़े होने की जानकारी मिल रही है। बॉर्डर पार से नकली नोटों की तस्करी में बॉर्डर से सटे गांवाें के ही कुछ तस्कर सक्रिय है।

असली नोटों के साथ चलाते थे नकली नोट, डेढ़ लाख चला भी दिए

अकबर व सावर खां से हुई पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि ये तस्कर पाक से आई नकली नोटों की खेप को असली नोटों के साथ मिक्स करके चलाते थे। ग्रामीण क्षेत्रों के भोले-भाले लोगों को असली के रूप में नोट दे देते थे। हालांकि नकली नोट भी दिखने में असली जैसे ही थे, पेपर देख कर पहचान करना मुश्किल था।

चांदी की तार को ऊपर-नीचे देखने पर रंग नहीं बदलता है, हालांकि हर कोई इतने गहराई से नोटों की जांच पड़ताल नहीं करते हैं। ये ताे नकली नोट बैंक पहुंचे और मशीन में काउंटिंग से पकड़ में आ गए, जबकि डेढ़ लाख नोट तो बाजार में चला दिए, जिनको पुलिस भी बरामद नहीं कर पाई है।

पाक तस्कर रोशन के जरिए 2014 में पाक से चार बार आई नकली नोट, हेरोइन और हथियारों की खेप

2014 में सीमा पार से तस्करी के मामले में कुख्यात तस्कर नबिया और उसके 14-15 सहयोगी तस्करों को गिरफ्तार किया था। पकड़े गए तस्करों के कब्जे से पाक मोबाइल नेटवर्क की सिमें और मोबाइल भी बरामद हुए थे। वर्ष 2014 में बाड़मेर से लगती तारबंदी से चार बार नकली नोट, हेरोइन और हथियार की खेप आई थी।

तस्करी के मामले में पकड़े गए कुख्यात तस्कर नवाब उर्फ नबिया से पूछताछ में पाक मोबाइल सिमों के जरिए तस्करी का जाल फैलाना सामने आया था। वर्ष 2014 में नवाब उर्फ नबिया, और अन्य तस्करों से पूछताछ में पाक मोबाइल नेटवर्क की सिमों से बातचीत का खुलासा हुआ था। इसमें दस भारतीय और चार पाकिस्तान सिमें शामिल थी। इन सिमों से तस्करों ने पाक तस्करों से एक हजार से अधिक बार कॉल सामने आए थे।

बीएसएफ की मिलीभगत के बगैर बॉर्डर पार से तस्करी संभव नहीं

2014 में इसी बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ हवालदार प्रेमसिंह की गिरफ्तारी देशद्रोह जैसे मामलों में हुई थी, इसके बाद अब बीएसएफ खुद सवालों के घेरे में है। बाड़मेर बॉर्डर सालों से तस्करी का अड्डा रहा है, सरूपे का तला से भभूते की ढाणी के बीच के बॉर्डर इलाके से पिछले वर्षों में कई तस्करी के मामले सामने चुके हैं। पूर्व में भी बीएसएफ जवानों की तस्करी के मामले में गिरफ्तारी हुई थी, ऐसे में अब यह भी अंदेशा लगाया जा रहा है कि बीएसएफ जवानों की मिलीभगत के बगैर बॉर्डर पार से नकली नोटों की तस्करी संभव नहीं है।

6 टीमें जांच कर रही है: एसपी

  • बॉर्डर पर पकड़ी गई नकली नोटों की खेप को लेकर एसएचओ ग्रामीण रामनिवास, एसएचओ प्रदीप डागा, एसएचओ बाखासर, एसएचओ कोतवाली, सीओ चौहटन व बाड़मेर की छह टीमें गठित की गई है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ और छानबीन की जा रही है। अभी तक कई अन्य लोगों से भी पूछताछ चल रही है। खेप पाक से आई है, इससे भी इनकार नहीं किया जा सकता है। फिलहाल आरोपियाें से पूछताछ चल रही है। - आनंद शर्मा, एसपी, बाड़मेर।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें