बाड़मेर तहसील के विशाला आगोर का मामला:पटवारी रिश्वत लेते पकड़ा गया तो स्टे लाया, अब किया निलंबित

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रिश्वत के मामले में पकड़े जाने के बाद न्यायालय से स्टे ऑर्डर पर तीन साल नौकरी करने के बाद तहसीलदार ने उसे फिर से निलंबित किया है। क्योंकि स्टे ऑर्डर पटवारी स्वंय से विड्रा करवा दिया। दरअसल, पटवारी अचलाराम को तीन साल पहले रिश्वत के मामले में पकड़ लिया था। उसके बाद पटवारी न्यायालय के जरिए स्टे ऑर्डर लाया और पटवारी ज्वॉइन कर दिया।

अब स्वंय ने न्यायालय के स्टे ऑर्डर काे विड्रा करवा दिया है। बाड़मेर तहसीलदार ने विशाला आगोर पटवारी अचलाराम को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही उनका निलंबन काल मुख्यालय भू अभिलेख शाखा जिला कलेक्टर बाड़मेर नियत किया गया है। साथ ही विशाला पटवार मण्डल का कार्यभार एलआरसी पटवारी लक्ष्मणाराम को सौंपा है।

खबरें और भी हैं...