पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संत की समाधि पूजन, शंभुरोट व पगड़ी रस्म कार्यक्रम:डूंगरपुरी मठ चौहटन के संत जालमपुरी के देवलोकगमन पर शोकसभा में उमड़े लोग

चाैहटन19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एटीएस की गिरफ्त में हेरोइन के आरोपी। - Dainik Bhaskar
एटीएस की गिरफ्त में हेरोइन के आरोपी।

महाराज डूंगरपुरी मठ के संत जालम पुरी के शुक्रवार रात्रि देवलोकगमन हाेने पर बुधवार काे मठ में संत शाेक सभा आयोजित की गई। महाराज जालमपुरी की समाधि स्थल पर समाधि पूजन कर शंभु राेट व पगड़ी रस्म की गई। मठ परिसर में विभिन्न मठों से आए मठाधीशों तथा साधु संतों के सानिध्य में शोक सभा कर संत काे श्रद्धांजलि दी गई।

तारातरा मठ के मठाधीश प्रतापपुरी ने कहा संत जालमपुरी आध्यात्मिक पुरुष होने के साथ-साथ शिक्षा के प्रति उनका विशेष लगाव रखते थे। उन्होंने शिक्षा के लिए महाराज डूंगरपुरी जन कल्याण संस्थान से संचालित विद्यालय खाेला। मठाधीश जगदीशपुरी ने जालम पुरी के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए बताया कि उनका जन्म ढोक हुआ, तथा 8 साल की उम्र में ही में मठ आने के बाद 48 साल तक सेवाएं दी।

सभा में हमीरपुरा मठ के नारायणपुरी, गंगापुरी मठ बाड़मेर के कुशाल गिरी, गुजरात के डूसकबाग से सावलपुरी, परालिया मठ से गणेशपुरी, लीलसर के मोटनाथ, गाजीपुर के प्रेम भारती, कोटड़ा से दयालपुरी, कच्छ से दादा मेघराज, पूनासर से बाबू गिरी, विसनगर गुजरात से शंकरपुरी, जालौर से गंगा भारती, पांडुला से लाल भारती, परेऊ मठ ओंकार भारती, महंत निर्मल दास, देवपुरी, निरभेपुरी, वैरमाता मंदिर ट्रस्ट के दलपत सिंह राठौड़, हिन्दू सिंह राठौड़, वार्ड पंच ईशाराम दईया, वीरात्रा माता धर्मार्थ ट्रस्ट के अध्यक्ष सगतसिंह, सचिव भेरसिंह, उपाध्यक्ष तनसिंह, ट्रस्टी स्वरूप सिंह राठौड़, महेश सिंह राजपुरोहित, भूरसिंह राजपुरोहित, प्रकाश सेन, नरपत सिंह दुधवा, हमीर सिंह साेढ़ा, जगदीश ढाका सहित कई लाेग माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...