भूखण्ड मालिक ने दर्ज करवाया धोखाधड़ी का मामला:फर्जी बेचाननामे से बनाया भूखण्ड का पट्‌टा, शिकायत के बाद खारिज

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पट्टा जारी करवाकर धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज । - Dainik Bhaskar
पट्टा जारी करवाकर धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज ।

शहर के कोतवाली थाने में सिणधरी रोड पर स्थित एक भूखण्ड का फर्जी बेचाननामा (इकरारनामा) तैयार कर नगर परिषद से पट्टा जारी करवाकर धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज हुआ है। हालांकि मामला दर्ज होने के बाद नगर परिषद ने पट्टे को खारिज कर दिया है। साथ ही कूटरचित दस्तावेज तैयार करने के आरोप में उसे कोतवाली थाना पुलिस के अनुसार शहर के लक्ष्मीपुरा निवासी परिवादी तेजगिरी पुत्र हंसगिरी ने रिपोर्ट पेश कर मामला दर्ज करवाया कि सिणधरी रोड पर बाड़मेर आगोर खसरा नंबर 1706/04 में एक आवासीय भूखण्ड है, जो वर्ष-2002 में नेहरू नगर निवासी नाथुसिंह से जरिए इकरारनामा से खरीदा था।

तब से उक्त आवासीय भूखण्ड प्लांट पर प्रार्थी का स्वामित्व है। इसके बावजूद दीपिका पत्नी मुकेशगिरी ने मेरे भूखण्ड का पट्टा लेने के लिए एक फर्जी बेचाननामा (इकरारनामा) तैयार कर नगर परिषद में आवेदन किया। जिसमें नगर परिषद ने दीपिका के आवेदन की बिना जांच किए विज्ञप्ति जारी कर दी। साथ ही सात दिन की अवधि पूर्ण होने से पहले पट्टा जारी कर दिया।

फर्जी व कूटरचित दस्तावेज पेश कर पट्टा लेने पर पुलिस ने आरोपी दीपिका पत्नी मुकेशगिरी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की। इधर, नगर परिषद आयुक्त योगेश आचार्य ने शिकायत व जांच के आधार पर कूटरचित दस्तावेज व नगर परिषद को गुमराह करने पर भूखण्ड का पट्टा खारिज कर दिया। पीड़ित तेजगिरी ने बताया कि मेरा भूखण्ड है, 20 साल पहले खरीदा था। पुलिस व प्रशासन मेरे साथ न्याय कर फर्जीवाड़ा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।

खबरें और भी हैं...