• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Police Had Seized 1058 Kg Of Doda In Two Different Cases, Disappeared From The Police Station, Gave Departmental Investigation 5 Months Ago, Got A Case Registered Against Unknown Thieves In September

जब्त डोडा पोस्त चोरी, मामला दर्ज:पुलिस के मालखाने से 1058 किलो डोडा पोस्त चोरी, 5 माह चली विभागीय जांच के बाद चोरों के खिलाफ FIR दर्ज, पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में

बाड़मेर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पचपदरा पुलिस थाना। - Dainik Bhaskar
पचपदरा पुलिस थाना।

बाड़मेर जिले के पचपदरा थाने के मालखाने से लाखों रुपए का अवैध डोडा पोस्त गायब हो गया। पुलिस ने पांच महिनों तक विभागीय जांच करवाने के बाद पचपदरा थानाधिकारी ने अज्ञात चोरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। पुलिस की कार्यशैली पर सवाल तो तब खड़ा होता है जब अप्रैल में खिड़की तोड़कर चोर डोडा पोस्त ले गए है तो पांच माह बाद एफआईआर अज्ञात चोरों के खिलाफ दर्ज होती है। इस मामले में पुलिस की संलिप्तता की बू आ रही है।

पचपदरा पुलिस ने चार जून और 23 अगस्त 2019 को कार्रवाई कर 1058 किलो अवैध डोडा पोस्त बरामद किया था। इसके बाद डोडा पोस्त को पचपदरा मालखाने में रख दिया था। इसके बाद में मालखाना इंचार्ज बदलते गए। इस साल अप्रैल माह में पचपदरा पुलिस हेड कांस्टेबल पदपपुरी को मालाखाना चार्ज दिया जा रहा था। तब चार्ज लिस्ट बनाने के दौरान डोडा पोस्त गायब होने की जानकारी मिली।

बालोतरा एएसपी नितेश आर्य से विभागीय जांच करवाई गई। एएसपी ने जांचकर रिपोर्ट एसपी को सौप दी। जांच में खिड़की तोड़ कर चोरी करने और मालखाना इंचार्ज की लापरवाही की बात सामने आई है। पुलिस लगातार मामले का दबाती रही। अब एफआईआर कॉपी सामने आने के बाद मामला सामना आया है।

एसपी आनंद शर्मा के मुताबिक इस संबंध में विभागीय जांच एएसपी बालोतरा द्वारा करवाई गई थी। इसमें दो चीजे सामने आई हैं। एक तो मालखाना इंचार्ज की लापरवाही और दूसरा मालखाना खिड़की तोड़कर चोरों द्वारा चुराकर ले जाना। इस संबंध में एक जांच एएसपी बालोतरा नितेश आर्य कर रहे हैं। दर्ज एफआईआर की जांच बालोतरा डीएसपी कर रहे है।

डीएसपी धनफूल मीणा ने बताया कि डोडा पोस्त चोरी होने का मामला दर्ज हुआ है जिसकी जांच की जा रही है। इस संबंध में राज्य के और भी जिलों से मालखाने से डोडा पोस्त चोरी होने वाली गैंग की जानकारी जुटाई जा रही है। दर्ज एफआईआर में किसी पुलिसकर्मी की संलिप्तता भी सामने आएगी उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

डोडा पोस्त कब गायब हुआ उससे पुलिस अनजान

दो साल पहले जब्त डोडा पोस्त मालखाने में रखा था लेकिन डोडा पोस्त कब गायब हुआ इसकी जानकारी पुलिस को नही है। पुलिस को इस साल अप्रैल में हेड कांस्टेबल को चार्ज देने के बाद अधिकारियों के सामने आया। इस समय में डोडा पोस्त कब गायब हुआ है या चोरी हुआ पुलिस अनजान बनी हुई है। पुलिस डोडा पोस्त के गायब होने के मामले को दबा रही थी। लेकिन बुधवार को एफआईआर कॉपी सामने आने के बाद पूरा मामला सामने आया है। पचपदरा थानाधिकारी प्रदीप डागा ने 11 सितंबर को अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। दर्ज मामले के मुताबिक मालखाने में रखा 1058 किलो डोडा पोस्ट अज्ञात चोरों ने मालखाने की खिड़की तोड़कर ले गए।

पांच माह बाद चोरों के खिलाफ मामला दर्ज

सबसे बड़ा सवाल यह है कि पचपदरा थाना के मालखाना से डोडा पोस्त गायब होने की जानकारी मिलने के पांच माह बाद पचपदरा थानाधिकारी द्वारा मामला दर्ज क्यू करवाया गया था। जब खिड़की टूटी हुई थी तो उस समय ही मामला क्यूं नही दर्ज करवाया गया। इस पूरे मामले में मालाखाना इंचार्ज और अन्य पुलिसकर्मी की संलिप्ता की बात भी सामने आ रही है।

दो साल में बदले चार मालाखाना इंचार्ज

पुलिस कार्रवाई में अवैध डोडा पोस्त पकड़ने से लेकर अभी तक मालखाना के चार इंचार्ज का ट्रांसफर हुआ था। एफआईआर के मुताबिक 2019 में माल खाना इंचार्ज रूपसिंह का एएसआई में प्रमोशन होने के बाद थाना पचपदरा से मंडली थाना ट्रांसफर हो गया। इसके बाद अस्थाई चार्ज हेड कांस्टेबल धन्नाराम को दिया गया। इस दौरान धन्नाराम का ट्रांसफर पुलिस थाना बाड़मेर ग्रामीण हो गया। इसके बाद मालखाना के चार्ज हेड कांस्टेबल जगदीश को सुपुर्द किया गया, जगदीश ने नियमानुसार चार्ज लिस्ट नहीं लेने, वह इस दौरान जगदीश सिंह का ट्रांसफर होने पर मालखाने का स्थाई चार्ज हेड कांस्टेबल पदमपुरी को देने के लिए हेड कांस्टेबल धन्नाराम, जगदीश और एएसआई रूपसिंह को बुलाया गया। हेड कास्टेबल धन्नाराम और जगदीश नहीं पहुंचे। एएसआई रूपसिंह 23 अप्रैल को चार्ज देने से पूर्व मालखाना में रखे आइटम को चैक किया तो दो एनडीपीएस दर्ज मामलों में जब्त डोडा पोस्ट के कट्टे और पैकेट गायब मिले। इस संबंध में थाने के अन्य कमरों की तलाशी ली गई। हेड कांस्टेबल धन्नाराम से डोडा पोस्त के बारे में पूछा गया तो दो दर्ज मामले का जब्त डोडा पोस्त मालखाने में रखा होना बताया।

खबरें और भी हैं...