जंगली सूअर ने अधेड़ को नोंचा, गंभीर घायल:खेत में बकरियां चराने के दौरान किया हमला, अस्पताल में भर्ती

बाड़मेर5 महीने पहले
बाड़मेर जिला अस्पताल में भर्ती अधेड़।

बाड़मेर जिले के जूना पतरासर गांव में 55 वर्षीय अधेड़ बकरियां चरा रहा था। पानी पीने के दौरान जंगली सूअर ने हमला कर दिया। गंभीर हालात में जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया। आसपास के लोगों घायल जिला अस्पताल में भर्ती करवाया है। जहां पर उसका इलाज चल रहा है।

बाड़मेर जिले के जूना पतरासर गांव में 55 वर्षीय अधेड़ बकरियां चराने के लिए गया था। पानी पीने के दौरान जंगली सुअर ने हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायल हो गया। आसपास के लोगों घायल जिला अस्पताल में भर्ती करवाया है। जहां पर उसका इलाज चल रहा है।

जूना पतरासर निवासी हनुमानराम का कहना है कि गांव में बीते दो सालों से जंगली सुअरों की संख्या लगातार बढ़ने के साथ आतंक मचा रखा है। गुरुवार शाम के समय में चाचा रतनाराम पुत्र रुगाराम निवासी जूना पतरासर गांव में पहाड़ी इलाकों में बकरियां चरा रहे थे। तालाब पर पानी के लिए गए। इस दौरान सुअरों ने हमला कर दिया। तभी वहां से गुजर रहे रूपाराम ने जैसे-तैसे करके सुअरों से छुड़वाया। परिजनों व ग्रामीणों ने गंभीर घायल अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां पर इलाज चल रहा है। घायल रतनाराम के दोनों हाथ, गला, होंठ, हाथ की अंगुलिया सहित पूरे शरीर पर चोटें आई है।

फसलों को भी करते है नुकसान

ग्रामीणों का कहना है कि बीते कई सालों से सुअरों की संख्या गांव में बढ़ती जा रही है। लोगों पर हमला करने के साथ-साथ फसलों को भी खा जाते है। इससे किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। प्रशासन को हमने कई बार लिखा लेकिन अभी तक किसी प्रकार का एक्शन नहीं हुआ है।