हेरोइन तस्करी में एक और संदिग्ध पकड़ा:गांव में चराता है बकरियां, तस्कर 31 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर

बाड़मेर4 महीने पहले
तस्कर स्वरूपसिंह 31 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर, पुलिस दबे राज खुलवाने की कर रही है प्रयास।

BSF व बाड़मेर पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए हेरोइन मामले में एक और संदिग्ध व्यक्ति को रोहिड़ी गांव से पकड़ा है। संदिग्ध से विभिन्न सुरक्षा एजेसिंयां संयुक्त पूछताछ कर रही है। इससे पहले संदिग्ध मानते हुए स्वरूपसिह को 17 जुलाई को पकड़ा था। करीब 4 दिन कड़ी पूछताछ के बाद पाकिस्तान से 5 व 10 किलो हेरोइन की खेप लेकर आगे सप्लाई करना सामने आया था। इसके बाद तस्कर स्वरूप सिंह को गिरफ्तार किया था। फिलहाल स्वरूप सिंह 31 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर चल रहा है। वहीं गिराब पुलिस व एजेंसी सीमा पार से आई 15 किलो हेरोइन मामले में गिरफ्तार स्वरूप सिंह से दबे राज खुलवाने का प्रयास कर रही है।

बीएसएफ और गडरा पुलिस ने बुधवार रात को संदिग्ध रोहड़ी गांव निवासी जगमाल सिंह (55) पुत्र इंद्रसिह को हेरोइन मामले में पकड़ कर लेकर आई है। संदिग्ध से विभिन्न सुरक्षा एजेंसियां संयुक्त में पूछताछ कर रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सीमा पार से आई 15 किलो हेरोइन में जगमाल सिंह की भूमिका संदिग्ध है। इसको लेकर विभिन्न सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ कर रही है। संदिग्ध तारबंदी से 3-4 किलोमीटर दूर गांव में रहता था।

गिराब थानाधिकारी प्रभुराम के मुताबिक बीएसएफ व पुलिस टीम ने बुधवार रात करीब 11 बजे रोहिड़ी गांव से संदिग्ध जगमाल सिंह को हेरोइन मामले में पकड़ा है। विभिन्न सुरक्षा एजेंसियां संदिग्ध से संयुक्त पूछताछ कर रही है।

संदिग्ध बकरियां चराता है
मिली जानकारी के मुताबिक संदिग्ध रोहिड़ी गांव में रहता था, गांव से बॉर्डर 3-4 किलोमीटर दूर है। गांव में बकरियां चराता है। इसके बेटा और तीन बेटियां है। गिरफ्तार स्वरूप सिंह ने पाकिस्तान से मते का तला बीएसएफ पोस्ट (पांचला) पोस्ट से हेरोइन ली थी। वहां से संदिग्ध का गांव नजदीक है।

31 जुलाई तक तस्कर रिमांड पर

पाकिस्तान से बाड़मेर के रास्ते लाई गई 15 करोड़ से ज्यादा (15KG) की हेरोइन पंजाब-दिल्ली में खपा दी गई है। चार दिन की कड़ी पूछताछ के बाद 22 जुलाई को एफआईआर दर्ज करके तस्कर स्वरूपसिह को गिरफ्तार किया था। 23 जुलाई को कोर्ट में पेश किया और तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया था। दुबारा कोर्ट पेश कर 31 जुलाई तक रिमांड पर भेजा है। गिराब पुलिस लगातार स्वरूप सिंह से दबे राज खुलवाने का प्रयास कर रही है।