सगाई प्रोग्राम में झगड़ा, महिला की मौत:परिजनों ने सड़क पर लेटकर किया प्रदर्शन, आटे-साटे विवाद के चलते हुआ था झगड़ा

बाड़मेर5 महीने पहले
मोर्चरी के बाहर टेंट नहीं लगाने दिया तो परिजन सड़क पर सो गए।

बाड़मेर शहर में आटा-साटा विवाद में 60 साल की बुजुर्ग महिला की मौत मामले ने तूल पकड़ लिया। मृतका के परिजनों ने शव उठाने से इंकार करते हुए मोर्चरी के बाहर धरने पर बैठ गए। पुलिस ने टेंट नहीं लगाने दिया तो परिजन सड़क पर सो कर प्रदर्शन किया। बीते 24 घंटो से शव जिला अस्पताल की मोर्चरी में पड़ा है। परिजनों की मांग है कि दोषियों को गिरफ्तार किया जाए। हालांकि परिजनों ने पोस्टमार्टम करवाने को लेकर सहमत हो गए है। वहीं, परिवार के आपसी झगड़े में सामने वाल पक्ष मृतका के भाई बेटा घायल हो गया था। जिसका इलाज बाड़मेर के डिस्ट्रीक्ट हॉस्पिटल में चल रहा है।

पुलिस ने परिजनों की सहमति से पोस्टमार्टम करवा दिया।
पुलिस ने परिजनों की सहमति से पोस्टमार्टम करवा दिया।

बुजुर्ग महिला का परिजन दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे है। परिजन मोर्चरी के बाहर टेंट लगाने लगे तो कोतवाल उगमराज सोनी ने टेंट लगाने से मना कर दिया कहा धारा 144 लगी हुई टेंट नहीं लगा सकते है। इसके बाद मृतक के परिजन मोर्चरी के बाहर सड़क पर सो गए। कुछ देर बाद परिजन मोर्चरी के बाहर बैठ गए। इससे पहले परिजनों की सहमति पर पुलिस ने पोस्टमार्टम करवा दिया है। परिजनों का कहना है कि पुलिस प्रशासन राजनीतिक दबाव के चलते कार्रवाई नहीं कर रहा है।

मृतका सुशीला।
मृतका सुशीला।

मृतका के बेटे पीयूष ने अपने बुआ के परिवार पर आरोप लगाया कि मृतका सुशीला के बाल पकड़कर चार लोगों ने घसीटा और पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है। यह दोषी इसके बावजूद खुलेआम घूम रहे है। हमारी एक ही मांग है कि इन दोषियों को पकड़ा जाए। अशोक कुमार ने पिता किशनलाल को बार-बार धमकिया दे रहा है। जब तक दोषियों को गिरफ्तार नहीं करेंगे तब तक मोर्चरी के बाहर धरने पर बैठे रहेंगे। बुआ का परिवार आटा-साटे से मुकर गए थे इसको लेकर विवाद हुआ था।

यह था मामला

बाड़मेर शहर सरदारपुरा निवासी किशनलाल की बेटी चुकी की शादी 15 वर्ष पहले आटे-साटे में संजय के साथ हुई थी। उस समय संजय की बहन ममता की शादी आटे-साटे में पवन के साथ हुई थी। पवन के पिता मेवाराम के परिवार ने किशनलाल के परिवार को कहा था कि तुम्हारे बेटे की शादी के समय आटे (लड़की) दे देंगे। बीते कुछ समय बुजुर्ग महिला का परिवार बुआ के घर पर साटे के लिए चक्कर लगा रहा है, लेकिन पीड़ित परिवार को कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे थे।

रविवार को पवन की भतीजी रक्षा पुत्री पुखराज की सगाई प्रोग्राम चल रहा था। किशनलाल व उसकी पत्नी सुशीला व बेटा हितेश उसके घर साटा मांगने गए। किशनलाल और मेवाराम दोनों बुआ-मामा के भाई है। पवन की भतीजी की शादी होने पर सुशीला हितेश के लिए साटा मांगने गई थी। इसी को लेकर दोनों परिवारों में कहासुनी के बाद विवाद बढ़ गया। दोनों के बीच हाथापाई शुरू हो गई। हाथापाई के बाद बुजुर्ग किशनलाल को धक्का लगा बेटा हितेश उसे वहां से लेकर चला गया।

इसके बाद बुजुर्ग सुशीला (60) मकान में ही बेहोश होकर गिर गई। डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। झगड़े में भाणेज पवन भी घायल हो गया है। जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

आटे-साटे ने ली बुजुर्ग की जान:चल रहे सगाई समारोह में मामा-बुआ परिवार में हुआ झगड़ा