कॉलेज में पढ़ने वाली युवती का किडनैप:परिजनों का सता रहा है डर, कोई अनहोनी घटना न हो जाए

बाड़मेर9 महीने पहले
बाड़मेर कलेक्टर से मिलने पहुंचे परिजन व समाज के लोग।

बाड़मेर प्राइवेट कॉलेज में पढ़ने वाली युवती का उसी कॉलेज में पढ़ने वाले युवक ने अपहरण कर लिया। अपहरण के 21 दिन बाद पुलिस को युवती व अपहरण करने वालों को पकड़ नहीं पाई है। युवती के परिजनों को डर सता रहा है कि युवती के साथ कोई अप्रिय घटना न हो जाए। इसको युवती के परिजनों व समाज के लोग कलेक्टर व एसपी से मिले है। कलेक्टर व एसपी ने आश्वासन दिया है कि जल्द युवती व अपहरण करने वालों को पकड़ लेंगे। कोतवाली थाने में 27 अप्रैल को एससी-एसटी, अपहरण का मामला दर्ज हुआ था।

कोतवाली थाने में युवती के भाई ने रिपोर्ट दी है कि मेरी बहन 26 अप्रैल को कॉलेज मार्कशीट लेने के लिए गई थी। इस दौरान साथ में पढ़ने वाले प्रवीणसिंह पुत्र मोटूसिह निवासी महाबार व अन्य युवकों ने उसे जबरदस्ती गाड़ी में डालकर ले गए। इसके बाद हमने युवती को ढूंढने का प्रयास किया और पुलिस थाने में रिपोर्ट भी दी। परिजनों का कहना है कि 21 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस युवती का पता लगा नहीं पाई है। 6 मई को बाड़मेर एसपी से मिलकर युवती का पता लगाने व युवकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की थी। पुलिस के पास जाने पर पुलिस कह रही है हम पता लगाने की कोशिश कर रहे है। कलेक्टर लोक बंधु ने परिजनों व समाज के लोगों का आश्वासन दिया है कि पुलिस से बात करता हूं और जल्द युवती ढूंढ कर लाए।

युवती के चाचा का कहना है कि युवती व युवक पहले साथ में पढ़ते थे लेकिन अब साथ में नहीं पढ़ते है। पुलिस के पास जाते है तो कहते दो-तीन दिन में पकड़ लेंगे। लेकिन 21 दिन बीत जाने के बाद युवती को कोई पता नहीं लगा है। हमें डर सता रहा है कि कोई अनहोनी घटना न हो जाए।

जटिया समाज के अध्यक्ष भंवरलाल का कहना है कि प्रवीणसिंह दबंग व राजनीतिक एप्रोज वाले है इस लिए पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। समाज के लोगों का अंदेशा है कि युवती की हत्या करे देंगे। पुलिस ने आगामी कुछ दिनों में युवती व अपहरण करने वालों को नहीं पकड़ा तो मजबूरन हमें आंदोलन की राह पकड़नी पड़ेगी।