रूई के गोदाम में लगी आग, लाखों रुपए का नुकसान:दो फायर बिग्रेड, लोगों की मदद से 1 घंटे में आग पर पाया काबू

बाड़मेर3 महीने पहले
रूई गोदाम में शॉट सर्किट से लगी आग, एक घंटे की मशक्कत के बाद पाया काबू।

बाड़मेर शहर के हिंगलाज माता मंदिर के पास में रूई के गोदाम में अचानक आग लग गई। इलाके में अफरा-तफरी मच गई। सूचना के बाद दो फायर बिग्रेड व आसपास के लोगों ने करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया। गोदाम मालिक का कहना है कि अभी सीजन का समय था। आग लगने से लाखों रुपए की रूई व सामान जलकर राख हो गया। ऐसा बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट से गोदाम में आग लगी थी।

आग लगते ही तैयार बिस्तर को बाहर निकालाकर सड़क पर फेंका।
आग लगते ही तैयार बिस्तर को बाहर निकालाकर सड़क पर फेंका।

पुलिस के अनुसार दोपहर के समय में हिंगलाज माता मंदिर के पास नौशाद भाई कोटन वेस्ट रूई के गोदाम में अचानक आग लग गई। आग लगते ही गोदाम व दुकान में बैठे लोग बाहर निकल गए और गोदाम व दुकान में रखे रजाई व बिस्तरों को गोदाम से बाहर निकाल रोड पर डाल दिए। वहीं लोगों ने फायर बिग्रेड व पुलिस को सूचना दी। सिविल डिफेंस व नगर परिषद की एक-एक फायर बिग्रेड मौके पर पहुंची। आग पर काबू पाने का प्रयास किया। लेकिन रूई व कपड़ा होने की वजह से आग तेजी से फैलने लगी। समय पर फायर बिग्रेड पहुंचने पर आग पर 1 घंटे में काबू पा लिया है।

गोदाम मालिक नौशाद का कहना है कि दोपहर के समय में अचानक गोदाम में शॉर्ट सर्किट होने से आग लग गई। गोदाम में रूई से बिस्तर तैयार किए जाते है। अभी सीजन का समय है। काफी संख्या में बिस्तर व रूई थी। करीब 7-8 लाख रुपए का नुकसान हो चुका है। 6-7 लाख का माल जल गया और 1 लाख का फर्नीचर व मशीनरी चल गई।

पुलिस के अनुसार दोपहर के समय सूचना मिली थी कि रेलवे कुआ नं. 3 हिंगलाज माता मंदिर के पास में नौशाद भाई कोटन वेस्ट मिल है। जिसमें रूई, रजाई, व बिस्तर भरने का काम है। उसमें अचानक आग लग गई। फायर बिग्रेड व पुलिस मौके पर पहुंची और आग पर काबू पा लिया है। गोदाम मालिक के हाथ के कुछ चोट लगी है जिसे इलाज के लिए हॉस्पिटल इलाज करवाया गया है। नुकसान का मालिक आंकलन कर रहा है।