कांस्टेबल भर्ती परीक्षा, फर्स्ट-डे 2659 परीक्षार्थियों ने नहीं दी परीक्षा:कड़े इंतजाम के बीच एग्जाम, हर रूम पर CCTV से नजर

बाड़मेर2 महीने पहले
कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के बाहर खड़े अभ्यर्थी रोल नंबर चेक करते हुए। - Dainik Bhaskar
कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के बाहर खड़े अभ्यर्थी रोल नंबर चेक करते हुए।

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के दूसरे दिन बाड़मेर के 5 सेंटर पर एग्जाम शुरू हुए है। पुलिस ने नकल रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम के साथ सख्ती बरत रही है। एक तरफ गर्मी और दूसरी तरफ पुलिस की सख्ती से बेरोजगार परेशान नजर आए। दूसरे दिन भी परीक्षार्थी सुबह 7 बजे सेंटर पर पहुंच गए और 8:30 बजे सेंटर मे प्रवेश दिया गया। पुलिस ने परीक्षार्थी के एडमिट कार्ड चेक करने के साथ चैकिंग की गई। वहीं, महिलाओं व युवतियों के आभूषण खुलवाकर सेंटर में प्रवेश दिया गया। पहले दिन 5723 परीक्षार्थियों में से 3064 परीक्षा में उपस्थित हुए, 2659 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे।

परीक्षा सेंटर परीक्षार्थी का एडमिट चेक करके अंदर प्रवेश दिया जा रहा है।
परीक्षा सेंटर परीक्षार्थी का एडमिट चेक करके अंदर प्रवेश दिया जा रहा है।

बाड़मेर में परीक्षार्थी दूसरे दिन भी तेज गर्मी व धूप में सेंटर के बाहर काफी इंतजार व चेकिंग के बाद सेंटर के अंदर प्रवेश दिया जा रहा था। शनिवार को परीक्षा सुबह 9 बजे शुरू हुई। जिले के 5 सेंटरों पर सुबह 7 बजे से कैंडिडेट्स की लाइन लग गई। सभी परीक्षार्थियों के चप्पल व जूते उतारे गए। पुलिस ने एक-एक कैंडिडेट के एडमिट कार्ड व आईडी प्रूफ चेक करने के बाद सेंटर में प्रवेश दिया गया। वहीं, युवतियों के बालों में लगे रबड़ को भी खुलवाकर चैकिंग की गई। सोने के आभूषण पहने आई महिलाओं व युवतियों के खुलवाएं गए। सेंटर में प्रवेश के दौरान कोरोना गाइड लाइन का ध्यान रखते हुए परीक्षार्थियों को मास्क दिए गए। एग्जाम सेंटर के बाहर स्थानीय लोगों ने टेंट लगाकर परीक्षार्थियों को सामान रखने के लिए स्टॉल लगा दी। परीक्षार्थी को टोकन देकर नॉर्मल रुपए ले रहे है।

सेंटर के बाहर स्थानीय लोगों ने सामान व बैग रखने की लगाई स्टॉल।
सेंटर के बाहर स्थानीय लोगों ने सामान व बैग रखने की लगाई स्टॉल।

एसपी दीपक भार्गव ने कहा कि नकल रोकने के लिए प्रत्येक परीक्षार्थी को फिजिकल सर्च करने के बाद उसे सेंटर में प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं, प्रत्येक रूम में जैमर लगा हुआ है। मोबाइल फोन काम नहीं करेंगा। सेंटर व रूम में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए है। अभी तक परीक्षा निष्पक्ष रूप से चल रही है।

एसपी दीपक भार्गव एग्जाम सेंटर का निरीक्षण करते हुए।
एसपी दीपक भार्गव एग्जाम सेंटर का निरीक्षण करते हुए।

पहले दिन 53.53 फीसदी परीक्षार्थियों ने दी परीक्षा

शुक्रवार को पहले दिन 5 एग्जाम सेंटर पर 5723 परीक्षार्थी परीक्षा देने आने वाले थे लेकिन इसमें से 3064 परीक्षार्थी ही परीक्षा में उपस्थित हुए और 2659 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। 53.53 फीसदी परीक्षार्थियों ने ही परीक्षा दी।

कड़ी धूप में तपस्या के बाद मिली एंट्री

एग्जाम सेंटर के बाहर सुबह से ही कड़ी धूम में सैकड़ों की संख्या में अभ्यर्थी खड़े रहे। परीक्षा शुरू होने से एक घंटा पहले एग्जाम सेंटरों में एंट्री शुरू हो गई। कई परीक्षार्थी सुबह से ही परीक्षा सेंटर के बाहर खड़े रहे। छाया का इंतजाम नहीं होने से गर्मी में काफी परेशानी हुई। कई सेंटर के आगे पानी के कैंपर व टेंट भी लगाया गया है। धूप होने से अधिकांश परीक्षार्थी सिर को गमछे से ढककर खड़े नजर आए।

बस स्टैंड पर परीक्षार्थी गर्मी से परेशान

रोडवेज बस स्टैंड पर अभ्यार्थियों के अलग-अलग जिलों के सेंटरों तक पहुंचने के लिए सुबह से लाइनें लगी नजर आई। अभ्यार्थियों की भीड़ ज्यादा होने से रेलमपेल रही। वहीं पुलिस जाब्ता भी लगाया गया है। रोडवेज डिपो में पुलिस ने जवानों को गर्मी से बेचने के लिए अस्थाई टेंट भी लगवाया है। वहीं, परीक्षार्थियों के लिए शनिवार को एक टेंट भी लगाया गया है। रोडवेज डिपों के अंदर इंद्रा रसोई में भी लाइन लगी नजर आई। वहीं बस की 50 सीट में 120-150 लोगों को भेजा जा रहा है।