गर्मी का कहर, अब चलेगी आंधियां:पारा पहुंचा 46.3 डिग्री, आज से हवा चलने से गिरेगा पारा

बाड़मेर2 महीने पहले
गर्मी से लोगों का हाल बेहाल, गर्मी से बेचने के लिए कर रहे है जतन। - Dainik Bhaskar
गर्मी से लोगों का हाल बेहाल, गर्मी से बेचने के लिए कर रहे है जतन।

बाड़मेर में भीषण गर्मी का प्रकोप लगातार जारी है। बीते कुछ दिनों से थार आग की तरह तप रहा है। तापमान में कुछ दिनों से 45 से 48 के बीच में चल रहा है। गर्मी व लू की वजह से पेड़-पौधे व पशु-पक्षी भी संघर्ष करते नजर आ रहे हैं। भीषण गर्मी में दो हाई ग्रेड फीवर मरीज जिला अस्पताल पहुंचे। अस्पताल में मरीजों का इलाज जारी है। शनिवार को भी गर्म हवा चलने से पारा 47 के आसपास चल रहा है। अब रातें भी गर्म होने लगी है। मौसम विभाग कल यानी रविवार से तापमान गिरने की संभावना जता रहा है।

दरअसल मई माह में तापमान में लगातार उतार-चढ़ाव देखने को मिला है। मई के फर्स्ट दिन तापमान 47 डिग्री से पार पहुंच गया था। इसके बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई लेकिन बीते तीन दिनों से तापमान 47 से पार चल रहा है। शनिवार को मानों आसमान से आग बरस रही है। गर्म हवा इतनी है शरीर झुलस रहा है। ऐसी गर्मी में लोगों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। शनिवार को दिन का तापमान 46.3 डिग्री व रात का पारा 29.9 दर्ज किया गया है।

दोपहर के समय मार्केट में सन्नाटा नजर आ रहा है। दोपहर में जरूरी काम होने पर दिन में हाथ, मुंह व सिर ढक कर घरों से बाहर निकल रहे है। देर शाम बाद लोग मार्केट में फिर से रौनक शुरू होती है। मौसम विभाग हीट वेव का असर आज दिन का ही बता रही है। रविवार से तापमान गिरने के साथ गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

बाड़मेर गर्मी में हाई ग्रेड फीवर के दो मरीज भर्ती।
बाड़मेर गर्मी में हाई ग्रेड फीवर के दो मरीज भर्ती।

बाड़मेर में शनिवार को दिन का तापमान 46 डिग्री व रात का तापमान 29.9 रहा है। गर्मी व लू से रात में भी राहत नहीं मिल रही है। दिन में लोग गर्मी से बचने के लिए पानी, नींबू पानी, व ज्यूस सहित पेय पदार्थ ज्यादा पीते नजर आ रहे है।

पीएमओ बीएल मंसूरिया का कहना है कि इमरजेंसी के अंदर कोल्ड स्पजिंग सहित सिम्टोमेटिक ट्रीटमेंट की व्यवस्था की गई है। कुछ दिनों से ओपीडी व आईपीडी में मरीजों की संख्या कम है। हीट स्ट्रोक मरीज अब तक नहीं आए है।

दो हाई ग्रेड फीवर मरीज पहुंचे अस्पताल

बाड़मेर में दो हाई ग्रेड फीवर दो मरीजों को बेहोशी के हालात में में बाड़मेर जिला अस्पताल में लाया गया है। इनका तापमान 102 से 103 डिग्री फारेनाइट रहा। एक मरीज की बीपी हाई रही। ऐसे में डॉक्टर्स की ओर से मरीजों की हालात सामान्य है। अस्पताल प्रशासन की ओर से जिले में बढ़ते तापमान को देखते हुए हीट स्ट्रोक (तापघात) मरीजों के लिए इमरजेंसी में कोल्ड स्पंजिंग (बर्फ के बॉक्स) की व्यवस्था की गई है। पारे में उछाल के साथ तेजी गर्मी और शरीर में पानी की कमी से लोग डिहाइड्रेशन की जकड़ में आ रहे है। डॉक्टरों का कहना है कि हीट स्ट्रोक के मरीज नहीं पहुंचे है लेकिन हाईग्रेड फीवर के मरीज आने शुरू हो गए है।