सेक्स स्कैंडल में फंसाकर 5 करोड़ मांगे:बाड़मेर से जयपुर तक हड़कंप; 2 महिलाएं भी गिरफ्तार, सीडी की भी चर्चा

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान का एक बॉर्डर जिला इन दिनों चर्चा में है। पुलिस के बड़े अधिकारी यहां डेरा डाले हुए हैं। सेक्स स्कैंडल से जुड़े इस केस में पांच करोड़ रुपए की मांग करने पर केस दर्ज कराया गया। ब्लैकमेल करने के आरोप में पुलिस 2 महिलाओं सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

इस केस में हाईप्रोफाइल लोगों के नाम जुड़े होने का पुलिस सूत्र दावा कर रहे हैं। जयपुर-जोधपुर से भी सीनियर पुलिस ऑफिसर्स के पहुंचने से मामले की चर्चा हो रही है।

दरअसल, बाड़मेर कोतवाली में एक 63 वर्षीय बुजुर्ग ने 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। उसने आरोप लगाया कि करीब छह साल पहले जोधपुर नशे कर हालत में उसके वीडियो बनाए गए। इसके बाद आरोपी उसे ब्लैकमेल करने लगे और उन्होंने 50 लाख रुपए की डिमांड की। बदनामी के डर से उसने ये पैसे उन्हें दे दिए। उस वक्त आरोपियों ने कहा था कि उन्होंने ये वीडियो और सीडी नष्ट कर दी है।

पीड़ित बुजुर्ग ने अपनी रिपोर्ट में आरोप लगाया है कि करीब दो माह पहले इनमें से एक आरोपी दयाल मेरे पास आया तथा उसी वीडियो को मुझे दिखाकर मेरे से 5 करोड़ की डिमांड करने लगा। डिमांड पूरी नहीं होने पर वीडियो सार्वजनिक करने व रेप का झूठा मुकदमा दर्ज कराने की धमकी भी दी।

बाड़मेर कोतवाली में दर्ज इस केस को लेकर अलग-अलग अटकलें हैं। हालांकि, कोई अधिकारी अभी कुछ भी कहने से बच रहा है।
बाड़मेर कोतवाली में दर्ज इस केस को लेकर अलग-अलग अटकलें हैं। हालांकि, कोई अधिकारी अभी कुछ भी कहने से बच रहा है।

कोतवाल ने बताया कि पीड़ित ने बाड़मेर के रहने वाले मंजू, शेलेंद्र अरोड़ा, पियूष, भागीरथ गोदारा, भंवराराम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मंगलवार को पुलिस की अलग-अलग टीमों ने बाड़मेर व जोधपुर में छापेमारी कर इन्हें गिरफ्तार किया।

चार आरोपियों को जोधपुर के शीत गांव से पकड़ा है जबकि एक की गिरफ्तारी बाड़मेर से हुई है। एक आरोपी अब भी फरार है। हालांकि, पुलिस ने इनके बारे में ज्यादा डिटेल शेयर नहीं की है।

पुलिस आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है। वहीं, मामले की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जयपुर व जोधपुर से कई सीनियर पुलिस अधिकारी बाड़मेर में डेरा डाले हुए हैं।

नशीला पदार्थ पिलाकर बनाई सीडी

बुजुर्ग ने बताया कि जोधपुर में वह एक विवाहिता के संपर्क में आया था। विवाहिता ने मीठी एवं चिकनी चुपड़ी बातों में फंसाया और घर में अवैध संबंध बना लिए। इसके कुछ दिन बाद से विवाहिता रेप का मामला दर्ज करवाने की धमकियां देकर रुपए ऐंठती रही।

बुजुर्ग का आरोप है कि 3 साल पहले फिर से उसी विवाहिता के बुलावे पर मैं उसके घर पर गया। तब वहां पर पहले से 22-23 साल की युवती थी। इसके बाद दोनों ने मुझे कोल्ड ड्रिंक्स में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया और नशे की हालात में मेरे से फिजिकल संबंध बनाए।

विवाहिता सहित अन्य सहयोगियों ने इसका वीडियो भी बना दिए। इसके बाद बाड़मेर निवासी शेलेंद्र अरोड़ा, जोधपुर निवासी दयाल, पियूष, भागीरथ युवती और विवाहिता ने 50 लाख रुपए की डिमांड की। आरोप है कि यह एक गिरोह है।

आरोपियों ने बाड़मेर व जोधपुर के कई अन्य लोगों के भी इस तरह से वीडियो बनाकर उनसे भी रेप व वीडियो सार्वजनिक करने की एवज में करोड़ों रुपए वसूल किए हैं।

किडनैपिंग का आरोप

पुलिस ने जिन पांच आरोपियों की गिरफ्तारी की है उनमें एक के परिवार ने बाड़मेर कोतवाली में किडनैपिंग का मामला दर्ज कराया गया है। आरोपी के पिता कृष्ण गोपाल अरोड़ा निवासी लक्ष्मी नगर बाड़मेर ने रिपोर्ट देकर बताया कि मंगलवार को 9 बजे 8-10 लोग खुद को बाड़मेर पुलिस के जवान बताकर आए। वे गुजरात पासिंग गाड़ी में आए थे और घर में घुस गए। इसके बाद पुत्र शैलेंद्र अरोड़ा को पकड़ कर गाड़ी में डालने लगे।

हम सभी परिवारजनों ने विरोध किया। इस पर परिवार के सभी लोगों के मोबाइल छीन कर ले लिए। यह कहकर गए कि शैलेंद्र से पूछताछ कर एक घंटे में छोड़ देंगे। पिता कृष्ण गोपाल का आरोप है कि इसके बाद से परिवार वाले लगातार पुलिस से संपर्क कर रहे है लेकिन अरोड़ा का कुछ पता नहीं लगा।

ये भी पढ़ें

पार्षद और हेड कॉन्स्टेबल का अश्लील वीडियो:महिला ने खुद ही 17 वीडियो पार्षदों के ग्रुप में डाले

कांग्रेस की महिला पार्षद और हेड कॉन्स्टेबल का एक अश्लील वीडियो सामने आया है। महिला ने खुद ही अपना अश्लील वीडियो पार्षदों के एक वॉट्सऐप ग्रुप में डाल दिया था। उसने पार्षदों से अपने-अपने मोबाइल से वीडियो डिलीट करने को कहा, लेकिन किसी ने वीडियो दूसरे ग्रुपों में भी शेयर कर दिया। सोमवार रात SP ने हेड कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया। (पूरी खबर पढ़ें)