जेल से पत्नी के साथ मिलकर रची लूट की साजिश:पुलिस ने लूट से पहले 5 बदमाशों को किया गिरफ्तार, अवैध हथियार बरामद

बाड़मेर2 महीने पहले
चौहटन पुलिस ने बिना नंबर की स्कार्पियो, 1 अवैध पिस्टल, 2 मैगजीन, 8 जिंदा कारतूस, 1 कुल्हाड़ी, 1 लाठी को बरामद कर 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
चौहटन पुलिस ने बिना नंबर की स्कार्पियो, 1 अवैध पिस्टल, 2 मैगजीन, 8 जिंदा कारतूस, 1 कुल्हाड़ी, 1 लाठी को बरामद कर 5 आरोपियों को किया गिरफ्तार।

मर्डर आरोपी ने जेल में बैठकर डंपर (वाहन) लूटने की योजना पत्नी के जरिए बनाई। चौहटन पुलिस की सर्तकता के चलते डंपर लूटने से पहले ही पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर अवैध हथियारों को बरामद किया है। पुलिस मर्डर आरोपी की पत्नी व षड्यंत्र रचने वाली सुमन की तलाश कर रही है। पुलिस ने बिना नंबर की स्कॉर्पियो, 1 अवैध पिस्टल, 2 मैगजीन, 8 जिंदा कारतूस, 1 कुल्हाड़ी, 1 लाठी को बरामद किया। पकड़े आरोपियों के खिलाफ अलग-अलग जिलो के थानों में लूट, डकैती, अपहरण, मारपीट के मामले दर्ज है। लूट से पहले बदमाशों को पकड़ने में चौहटन थानाधिकारी भूटाराम की भूमिका अहम रही।

एएसपी नरपतसिह के मुताबिक मुखबिर से सूचना मिली थी कि बिना नंबरी की स्कॉर्पियो गाड़ी बाड़मेर बाईपास रोड चौहटन पर जगदम्बा होटल के आसपास घूम रहे है इस पर चौहटन थानाधिकारी भूटाराम मय टीम के पहुंचकर बदमाशों को पकड़ लिया। पूछताछ में यह सामने आया है कि बदमाश डंपर को लूटते या ड्राइवर का अपहरण करते और बाद में उसे छोड़ देते और डंपर को डालुराम की पत्नी सुमन को सुपुर्द कर देते। वहीं, पुलिस साजिश करने वाली डालूराम की पत्नी सुमन की तलाश में एक टीम को भेजा है।

पुलिस ने जोधपुर के दो शातिर बदमाश व तीन मंडली बाड़मेर के बदमाशों को किया गिरफ्तार। पुलिस सुमन की तलाश में जुटी है।
पुलिस ने जोधपुर के दो शातिर बदमाश व तीन मंडली बाड़मेर के बदमाशों को किया गिरफ्तार। पुलिस सुमन की तलाश में जुटी है।

दो पार्टनर करते थे अवैध बजरी खनन का काम

करीब दो साल पहले गुड़ामालानी इलाके के रहने वाले डालूराम व रेखाराम दोनो पार्टनरशिप में अवैध बजरी खनन का कारोबार करते थे। इस दौरान दोनों के बीच में गाड़ी में तोड़ फोड़, रुपए, डंपर व कारोबार को लेकर अनबन हो गई। डालूराम ने जोधपुर के साथियों के साथ मिलकर रेखाराम का मर्डर कर दिया था। हत्या के आरोप डालूराम जेल में बंद है। डालूराम व रेखाराम के पार्टनरशिप में एक डंपर था। जो प्रेमाराम निवासी गुड़ामालानी के पास में है।

मर्डर आरोपी ने पत्नी से मिलकर बनाई लूट की योजना

पुलिस के अनुसार डालूराम जेल में बंद है और प्रेमाराम डालूराम को डंपर से होने वाली इनकम के रुपए नहीं दे रहा है। तब डालूराम ने जेल से अपनी पत्नी सुमन को कहा कि पंडित जी की ढाणी ओसियां (जोधपुर) निवासी मोतीराम (30) पुत्र तिलोकराम से संपर्क करने व डंपर लूटने की योजना बनाई। मोतीराम ने अपने साथी भाटियों की ढाणी चंडालिया, ओसियां (जोधपुर) निवासी प्रेमाराम (27) पुत्र मेहताराम को साथ लेकर मंडली (बाड़मेर) थाने के बलाऊ निवासी भोमाराम (30) पुत्र बुधाराम, देवाराम (24) पुत्र तुलसाराम, ड्राइवर दिनेश (37) पुत्र नेमाराम को साथ लेकर बाड़मेर पहुंचे।

बदमाशों ने क्रेसरों की रैकी, डंपर ड्राइवर से किया संपर्क

डीएसपी धर्मेद्र डुकिया के मुताबिक शातिर बदमाशों को डंपर बाड़मेर से चौहटन के बीच क्रेसर पर चलने की सूचना मिली थी। बदमाशों ने डंपर लूटने के लिए पूरे इलाके में डंपर की रैकी की। डंपर ड्राइवर से भी संपर्क करने की कोशिश की। एक बार डंपर ड्राइवर को किराए के लिए पचपदरा चलने के लिए संपर्क किया लेकिन ड्राइवर ने बदमाशों को लोकेशन नहीं बताई। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिलने पर बिना नंबरी स्कार्पियों के साथ पांच शातिर बदमाशों को गिरफ़्तार कर लिया।

पत्नी सुमन साजिश करने में आ रही भूमिका सामने, पुलिस जुटी तलाश में

पुलिस के अनुसार पूरे घटनाक्रम में डालूराम की पत्नी सुमन की भूमिका साजिशकर्ता के रूप में सामने आ रही है। सुमन लगातार इन बदमाशों सपंर्क में थी और समय-समय पर बदमाशों से जानकारी जुटा रही थी। डंपर की लोकेशन पता करके बदमाशों को दे रही थी।

चार अरोपियों का अपराधिक रिकॉर्ड

पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाश शातिर, झगड़ालू प्रवृति के है। इनके खिलाफ अलग-अलग थानों में हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, अपहरण, मारपीट, आर्म्स एक्ट, आबकारी एक्ट, पुलिस पर फायरिंग के अनेक मामले दर्ज है। जोधपुर निवासी प्रेमाराम के खिलाफ थाना मथानिया, चौपासनी, शास्त्रीनगर, सूरसागर में लूट व हत्या का प्रयास व मारपीट, अपहरण, सूरसागर में फायरिंग व ओसियां में पुलिस पर फायरिंग के मामले दर्ज है। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में प्रेमाराम के पैर पर गोली लगाना भी सामने आया है। वहीं, राजसंमद में डकैती की योजना व हत्या का प्रयास व आर्म्स एक्ट का मामला दर्ज है। आरोपी मोतीराम के खिलाफ नागौर गेट जोधपुर हत्या के मामले में 5 साल जेल रहा था। महामंदिर में अपहरण, ओसिया में 12 लाख रुपए की लूट, देचू थाने में लूट के मामले दर्ज है। वहीं राजसमंद भीम में आर्म्स एक्ट मामला दर्ज है। भोमाराम के खिलाफ मथानिया में हत्या का प्रयास व मारपीट, शास्त्रीनगर जोधपुर व मंडली थाने में मारपीट के मामले दर्ज है। आरोपी देदाराम के खिलाफ सूरसागर में अवैध शराब की तस्करी, मथानिया थाने में हत्या का प्रयास व मारपीट के मामले दर्ज है।