18 साल की बेटी की जबरन शादी पर अड़े पंच-पटेल:हुक्का-पानी बंद करने की धमकी, पीड़ित स्टूडेंट ने SP से लगाई गुहार

बाड़मेर3 महीने पहले
पीड़ित माता-पिता व बेटी पहुंचे एसपी ऑफिस, लगाई एसपी से गुहार।

18 साल की स्टूडेंट की जबरन शादी करवाने के दबाव का मामला सामने आया है। युवती आगे पढ़ाना चाहती है, लेकिन जहां सगाई हो रखी है वह परिवार पढ़ने से रोक रहा है। परिवार ने आरोप लगाया है कि शादी नहीं करने पर समाज के पंच पटेल उन्हें बहिष्कृत करने व धमकियां दे रहे हैं। इससे परेशान माता-पिता व बेटी पहले थाने गए। लेकिन वहां पर मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तो सोमवार को बाड़मेर एसपी से न्याय की गुहार लगाई। एसपी ने गुड़ामालानी पुलिस को जांच करने के निर्देश दिए हैं। मामला बाड़मेर जिले के गुड़ामालानी टाबों का धोरा गांव का है।

टाबो का धोरा गुड़ामालानी निवासी कानाराम पुत्र मोबताराम ने एसपी को सोमवार को परिवाद दिया। परिवाद में बताया कि मेरी बेटी सूरज कुमारी (18) बीए फर्स्ट ईयर में पढ़ती है। मेरे रिश्तेदारों ने मेरे इच्छा के विरूद्ध चार-पांच साल पहले मेरी बेटी सूरज का रिश्ता (सगाई) उससे ज्यादा उम्र तथा नशेड़ी व्यक्ति परागाराम (30) पुत्र आसूराम निवासी डेडावास जागीर के साथ कर दिया था।

पीड़ित परिवार का आरोप है कि कई बार मना करने के बावजूद शादी करवाने के लिए तुले हुए हैं। मेरे पूरा परिवार बेटी को पढ़ाना चाहते है और शादी नहीं करवाना चाहते है। बीते एक-दो माह से समाज के पंच व सगाई वाला परिवार लगातार घर पर दबाव बना रहे और धमकियां दे रहे है। समाज ने रिश्ता तय कर लिया। शादी नहीं करने पर समाज से बहिष्कृत कर देंगे। तुम्हारा हुक्का पानी बंद कर देंगे। 15 लाख रुपए का आर्थिक दंड भरना पड़ेगा।

युवती सूरज कुमारी का कहना है कि मै पढ़ता चाहती हूं, मेरा परिवार इससे सहमत है। लेकिन समाज के लोग मेरी जबरन शादी ऐसे युवक से करना चाहते हैं, जो नशे का आदी है। वहीं, शादी नहीं करने पर 15 लाख रुपए का दंड भरने का दबाव बना रहे है। पूरा परिवार बच्ची को पढ़ाना चाहते है। 30 जून को गुड़ामालानी थाने में रिपोर्ट दी थी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। आज एसपी से मुलाकात की है। एसपी ने कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।