40 मिनट बाद शुरू हुआ कांस्टेबल एग्जाम:4 सेंटर पर आयोजित हुआ एग्जाम, पुलिस की रही कड़ी सुरक्षा

बाड़मेर3 महीने पहले
सेंटर पर परीक्षा देकर निकलते स्टूडेंट, 40 मिनट बाद लेते हुए एग्जाम शुरू।

कास्टेबल पेपर लीक होने के कारण रद्द की गई कांस्टेबल भर्ती परीक्षा शनिवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आयोजित की गई। बाड़मेर में चार सेंटर पर करीबन 2400 स्टूडेंट रजिस्टर्ड थे। सेंटर में प्रवेश से पहले परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड के साथ फिजिकली चेकिंग की गई। एक तरफ गर्मी और दूसरी तरफ पुलिस की सख्ती से परीक्षार्थी परेशान नजर आए। शनिवार को कड़ी धूप और गर्मी के बावजूद परीक्षार्थी घंटो परीक्षा सेंटरों के बाहर पहले अग्नि परीक्षा देकर फिर सेंटर में प्रवेश किया। वहीं बस स्टेंड पर भी बाहर जिलों के युवाओं की लाइन नजर आई।

बस स्टैंड पर लगी स्टूडेंट की लाइन, गर्मी से रहे परेशान।
बस स्टैंड पर लगी स्टूडेंट की लाइन, गर्मी से रहे परेशान।

दरअसल, प्रदेश में 14 मई को आयोजित की गई कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के बाद रद्द की गई थी। बाड़मेर में चार सेंटर पर कड़ी सुरक्षा के बीच एग्जाम हुए। परीक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन की ओर से तमाम जरूरी इंतजाम किए गए थे। परीक्षा केन्द्र में अभ्यर्थियों को जूते-चप्पल पहन कर भी नहीं प्रवेश दिया गया। फुल बाजू के शर्ट व टीशर्ट को सेंटरों से बाहर उतरना पड़ा। युवतियों के सोने के आभूषण भी उतारने पड़े थे।

जोधपुर के स्टूडेंट कुलदीप परिहार का कहना है कि कांस्टेबल एग्जाम में पेपर करीब 40 मिनट लेट दिया गया। इस वजह मानसिक तनाव में आ गए थे। पेपर रद्द होने के कारण कुछ परेशानियां जरूरी हुई है। लेकिन पहले के पेपर व अब में ज्यादा कोई फर्क नहीं था। स्टूडेंट किरण सिंघल का कहना है कि पेपर बहुत लेट आया था। पाली निवासी अंजू का कहना है कि पहले पेपर बहुत सरल था लेकिन इस बार का पेपर कठिन था। पेपर भी लेट मिला था।

बस स्टैंड पर परीक्षार्थी गर्मी से परेशान

रोडवेज बस स्टैंड पर अभ्यार्थियों के अलग-अलग जिलों के सेंटरों तक पहुंचने और परीक्षा देने के बाद अपने गृह जिलों में के लिए लाइनें लगी नजर आई। अभ्यार्थियों की भीड़ ज्यादा होने से रेलमपेल रही। वहीं पुलिस जाब्ता भी लगाया गया है। वहीं बस की 50 सीट में 120-150 लोगों को भेजा जा रहा है।