राज्य स्तरीय वर्चुअल कार्यक्रम में बोले सीएम:दुनिया भर में स्वदेशी को बढ़ावा दे रही रूमा देवी

बाड़मेर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाड़मेर. राज्य स्तरीय वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करती रूमा देवी। - Dainik Bhaskar
बाड़मेर. राज्य स्तरीय वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करती रूमा देवी।
  • कस्तूरबा गांधी की जयंती पर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित हुआ राज्य स्तरीय वर्चुअल कार्यक्रम

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महात्मा गांधी के 150वीं जयंती एवं स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के आयोजन में कस्तूरबा गांधी की जयंती पर वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से गांधी दर्शन व महिला सशक्तिकरण विषय पर राज्य स्तरीय महिला सम्मेलन के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पश्चिमी राजस्थान के सुदूर इलाके से अपने संघर्ष के साथ कुछ करने की तमन्ना को संजोए हुए रूमा देवी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के संकल्पों को अपने संघर्ष भरे जीवन में उतार कर आगे बढ़ी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि रूमा देवी विपरीत परिस्थितियों के बावजूद दुनिया भर में स्वदेशी को बढ़ावा देने का कार्य कर रही है। उन्होंने रूमा देवी के उल्लेखनीय कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि आप हम सभी के लिए प्रेरणादायक है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्य मंत्री महिला एवं बाल विकास विभाग ममता भूपेश ने कहा मैं समझती हूं कि रूमा देवी बड़े महापुरुषों के आदर्शों का स्वरूप हैं। उन्होंने कहा कि हमारे महापुरुषों ने जो सपने देखे उसे रूमा देवी पूरा करने का काम कर रही है।

जिला मुख्यालय से वर्चुअल कार्यक्रम द्वारा जुड़कर रूमा देवी ने अपने उद्बोधन में कस्तूरबा गांधी जयंती की बधाई देते हुए कहा कि चंपारण में जिस तरह कस्तूरबा बाई ने महिला विकास के लिए कार्य किए। अनेक आश्रमों में निशुल्क भाव से अपनी सेवाएं दी। हमेशा पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चली। इनका परिणाम है कि आज हमारे देश की महिलाएं हर क्षेत्र में अपना परचम लहरा रही है।

उन्होंने कहा कि राजस्थान राज्य अपने आप में एक कला का हब है। अपने-अपने क्षेत्र की कला के माध्यम से जुड़कर महिला खुद सशक्त बन सकती है। रूमा देवी ने कहा कि आप जहां भी जाए अपनी संस्कृति, पहनावे, भाषा को नहीं छोड़े,अपने क्षेत्र पर गर्व महसूस करें।

राज्य स्तरीय इस सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभी जिला मुख्यालय व उपखंड मुख्यालय पर 2,000 से ज्यादा प्रतिभागियों ने भाग लिया। वहीं 1 लाख 36 हजार से अधिक लोगों ने कार्यक्रम को लाइव देखा।

खबरें और भी हैं...