पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत:ट्रेनों में महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा करेगी सहेली

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेलवे आरपीएफ के महानिदेशक और रेलवे अफसरों ने वीसी के जरिए दिए निर्देश

आगामी त्योहार पर ट्रेनों में अकेले सफर करने वाली महिलाओं और बेटियों के लिए अच्छी खबर है। अब परिजनों को उनकी सुरक्षा के लिए चिंतित नहीं होना पड़ेगा। रेलवे ने महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा और संरक्षा मुहैया करने के लिए देशभर में एक नई पहल मेरी सहेली शुरू की है। इस पहल का उद्देश्य महिला यात्रियों के बीच सुरक्षा की भावना पैदा करना है और महिला यात्रियों के सामने आने वाली या देखी जाने वाली सुरक्षा संबंधी किसी भी समस्या का प्रभावी ढंग से निराकरण करना है।

मेरी सहेली टीम में आरपीएफ की महिलाकर्मी ट्रेन में अकेली सफर करने वाली महिलाएं और बेटियों की सुरक्षा करेंगी। सफर के दौरान परेशानी आती है ये मेरी सहेली टीम तत्काल पीड़िता के पास पहुंचेगी और उसकी मदद करेगी। जानकारी के अनुसार त्योहार के दौरान ट्रेनों में महिलाओं से छेड़छाड़, लूटपाट और बेटियों की तस्करी से जुड़े मामले बढ़ जाते हैं। अब रेलवे मेरी सहेली टीम तैयार करेगी।

इस टीम में रेलवे सुरक्षा बल की एक महिला हैड कांस्टेबल और एएसआई समेत चार कर्मी तैनात रहेंगी। यह टीम साइबर एक्सपर्ट होगी। ट्रेन के चलते ही टीम महिलाओं के पास जाकर अपना मोबाइल नंबर शेयर करेगी और उन्हें बताएगी कि सफर में कोई भी परेशानी आने पर संबंधित नंबर पर कॉल करने पर मेरी सहेली टीम तत्काल पहुंचेगी और मदद करेगी।

आरपीएफ के महानिदेशक और रेलवे अधिकारियों के बीच हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में महिला सुरक्षा को लेकर मेरी सहेली टीम तैयार करने पर निर्णय लिया गया। इस संबंध में वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक का कहना है कि कि रेलवे ने महिलाओं की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए नई पहल मेरी सहेली की शुरुआत की है। इस टीम में शामिल आरपीएफ की महिला जवानों को विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी जिससे वह विशेष परिस्थितियों में महिला यात्री को पूर्ण सुरक्षा दे सकें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें