सलाह:जीवन की सार्थकता के लिए हमारी विचारधारा में आत्मनिर्भरता व स्वावलंबन जरूरी: गौड़

बाड़मेर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारत विकास परिषद की ओर से ऑक्सीजन केंद्र कम्प्यूटर लैब व स्मार्ट क्लास रूम का किया उद‌्घाटन

भारत विकास परिषद वीर दुर्गादास राठौड़ शाखा बाड़मेर की ओर से अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर भारत सरकार के आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत मां भारती सिलाई प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की गई। इसका उद्घाटन प्रांतीय अध्यक्ष भवानीशंकर गौड़ और प्रांतीय प्रकल्प प्रमुख पुखराज राठी द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने अपने उद्बोधन में कहा कि आधुनिक युग में मानव की विचारधारा में आत्मनिर्भरता और स्वावलंबन की विचारधारा होनी चाहिए, इसके बिना मनुष्य का जीवन भंगुरता के समान है।

गौड़ ने कहा कि भारत विकास परिषद भारत वर्ष में आत्मनिर्भरता की डोर को शहर से गांव तक ले जाने के लिए प्रयासरत है इसी कड़ी में वीर दुर्गादास राठौड़ शाखा बाड़मेर की ओर से महिलाओं और बालिकाओं को आत्मनिर्भरता की और ले जाने के लिए जगह-जगह इस तरह के प्रकल्प खोल रही है।

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर एनीमिया मुक्त भारत अभियान के तहत प्रांतीय अध्यक्ष शोभा गौड़ की अध्यक्षता में कार्यशाला का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि महिलाओं और बालिकाओं के खानपान के कारण आज के समय में उनमें एनीमिया की समस्या आम हो गई।

गौड़ ने एनीमिया की समस्या के बचाव और उपचार बताते हुए कहा कि सभी महिलाओं और बालिकाओं को गुड़ व चने का अधिक सेवन करना चाहिए। इस अवसर पर महिलाओं और बालिकाओं को गुड़ व चने तथा लोहे की कड़ाई वितरण की गई।

शाखा सचिव दिनेश सिंघवी ने बताया कि बाड़मेर शहर में कोरोना के कारण ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए प्रांतीय अध्यक्ष द्वारा भारत ऑक्सीजन केंद्र का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर कहा कि मनुष्य जगत में मानव सेवा सबसे बड़ी सेवा है।

उद्घाटन सत्र में परिषद के अध्यक्ष प्रदीप राठी ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में ऑक्सीजन सिलेंडर पर्याप्त संख्या में नहीं है इसके कारण सिलेंडर की समय पर आपूर्ति नहीं हो रही। इस हालत को मद्देनजर रखते हुए परिषद द्वारा ऑक्सीजन केंद्र की स्थापना की गई है।

इसी कड़ी में अंतरी देवी स्कूल में भारत विकास परिषद की प्रेरणा से सलम्बजर कंपनी द्वारा स्थापित कंप्यूटर लैब और स्मार्ट रूम का उद्धघाटन किया गया। गुरू वंदन कार्यक्रम के तहत 51 विद्यालयों के प्रमाण पत्र उनके प्रभारियों को सौंपे गए। कार्यक्रम में गुरु वंदन के प्रांतीय प्रभारी डॉ.लक्ष्मीनारायण जोशी ने भी संबोधित किया।

इस अवसर पर पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष डॉ.रामकुमार जोशी, पूर्व अध्यक्ष जसवंत गौड़, कोषाध्यक्ष दिनेश बंसल, प्रकल्प प्रमुख दिलीप तिवाड़ी, दुर्गा तिवाड़ी, बाबूलाल खत्री, प्रकाश शर्मा, दीपक ठक्कर, पुखराज सोनी, बस्तीराम, मांगीलाल जैन, दीपक बंसल, हरीश चंडक, महावीर लुनिया, राकेश माहेश्वरी, गौतम बोथरा, जितेंद्र मेहता सहित सभी पदाधिकारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...