पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Senior MLA Hemaram Chaudhary Reached Jaipur For The First Time After Resigning, Today Sachin Pilot Can Meet Speaker CP Joshi

जयपुर में सियासी हलचल बढ़ी:अपने नेता सचिन पायलट से मिले हेमाराम चौधरी, बोले- मैं विधानसभा से इस्तीफा दे चुका हूं, फैसला अध्यक्ष को करना है जब बुलाएंगे पेश ​हो जाऊंगा

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक हेमाराम चौधरी। - Dainik Bhaskar
विधायक हेमाराम चौधरी।

राजस्थान में सियासी हलचल बढ़ गई है। अपने क्षेत्र के विकास में भेदभाव सहित कई मुद्दों पर नाराज होकर विधानसभा से इस्तीफा देने वाले गुड़ामालानी विधायक हेमाराम चौधरी ने शुक्रवार को सचिन पायलट से मुलाकात की। हेमाराम पायलट के आवास पर उनसे मिले। हेमाराम ने कहा, मैं इस्तीफा दे चुका हूं। अध्यक्ष जब बुलाएंगे, मैं उनके सामने पेश ​हो जाऊंगा। इस्तीफे पर फैसला अध्यक्ष को करना है। विधायक हेमाराम चौधरी पायलट के समर्थक हैं, बाड़ेबंदी में उनके साथ थे। विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद हेमाराम पहली बार गुरुवार रात जयपुर पहुंचे थे।

पायलट को CM बनाने की मांग कर चुके हैं हेमाराम
सचिन पायलट के हालिया बयान और उसके बाद शुरू हुई सियासी हलचल के बीच हेमाराम चौधरी का जयपुर पहुंचना अहम माना जा रहा है क्योंकि पिछले साल सचिन पायलट गुट की बगावत के समय से ही चौधरी लगातार पायलट के साथ रहे हैं। उन्होंने सीधे तौर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ भी मोर्चा खोल रखा है। वे कई बार कह चुके हैं कि सचिन पायलट को CM बना देना चाहिए।

वहीं गुरुवार को जयपुर में सचिन पायलट गुट के 6 विधायकों के पायलट के घर पर मुलाकात के बाद राजनीतिक गलियारों में अलग-अगल कयास लगाए जा रहे हैं। कयास ये भी हैं कि 10 महीने पहले वाली बगावत की स्थिति फिर से बन सकती है। पायलट गुट के विधायक कह रहे हैं कि पंजाब में सिद्धू की 10 दिन में सुन ली तो पायलट की क्यों नहीं? सत्ता का विकेन्द्रीकरण जल्द होना चाहिए।

हेमाराम की मनाने की कोशिशें जारी
इधर पायलट समर्थक हेमाराम अपनी नाराजगी की वजह यह बताते हैं कि सरकार में उनकी सुनी नहीं जा रही और विकास कार्य नहीं हो रहे हैं। चौधरी ने 18 मई को अपना इस्तीफा स्पीकर सीपी जोशी को ई-मेल कर दिया था। उनके इस्तीफे के बाद उन्हें अप्रत्यक्ष तौर पर मनाने की कोशिशें भी हो रही हैं। शायद यही वजह है कि उनके विधानसभा क्षेत्र में 33/11 केवी क्षमता के 3 विद्युत सब स्टेशन की मंजूरी दी जा चुकी है। साथ ही 2013-14 और 2019-20 बजट में मंजूर 1,427 करोड़ की नर्मदा नहर आधारित जल परियोजना को भी मंजूरी दे दी गई है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा भी चौधरी को मनाने की कोशिश कर चुके हैं। कुछ दिन पहले राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और हेमाराम चौधरी एक ही गाड़ी में गुड़ामालानी विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर थे। उस समय यह भी चर्चा थी कि के हरीश चौधरी भी हेमाराम को मनाने में लगे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...