कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां:दुकानदार मानने को तैयार नहीं, आधा शटर खोलकर बेच रहे सामान; 11 बजे तक आमदिनों की जैसी नजर आ रही भीड़

बाड़मेर6 महीने पहले
स्टेशन रोड़ पर दुकानदार आधा शटर खोलकर सामान बेच रहे।

बाड़मेर। ​​​​जिले में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो गया है। संक्रमण रोकने के लिये जन अनुशासन पखवाड़ा चलाया जा रहा है लेकिन पखवाड़े के अंतिम दिनों में भी दुकानदार और लोग अनुशासित नजर नहीं आ रहे। प्रशासन और पुलिस के बार-बार समझाईश और सख्ती के बाद भी ये लोग मानने को तैयार नहीं हैं।

आज स्टेशन रोड़, हनुमान मंदिर के पास सहित अनेक जगह दुकानदार छुप-छुप कर सामान बेचते नजर आए। जिले में जन अनुशासन पखवाड़ा अपने अंतिम दिनों की ओर है। अभी संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा है। आमजन अभी कोरोना की दूसरी लहर को हल्के में ले रहे हैं। गाइडलाइन की पालना नहीं कर रहे हैं। बेवजह लोगों को घूमना लगातार जारी है।

सुबह 11 बजे तक भीड़ आमदिनों की तरह

सरकार ने अनुशासन पखवाड़े की नई गाइडलाइन जारी कर 11:00 बजे तक किराना दूध डेयरी की दुकान खोलने की अनुमति दी थी। इस समय के दौरान लोगों की आवाजाही जैसे आम दिनों में होती है वैसे ही नजर आ रही थी। प्रशासन दावे कर रहा है कि हम लोगों को जागरूक कर रहे हैं लेकिन लोगों में जागरूकता नजर नहीं आ रही है।

हनुमान मन्दिर के पास आमदिनों जैसी दिखी भीड़
हनुमान मन्दिर के पास आमदिनों जैसी दिखी भीड़

दुकान खोल बेच रहे हैं सामान

अनुशासन पखवाड़े की नई गाइडलाइन में किराना, दूध डेयरी सहित कुछ दुकानें खोलने की अनुमति है लेकिन कपड़ा, जूते, कॉस्मेटिक (होजरी) के दुकानदार दुकानों के आधे शटर खोलकर ग्राहक को दुकान में भेजकर सामान बेचते नजर आए। कोरोना गाइडलाइन की पालना न करने पर बुधवार को कोतवाली पुलिस द्वारा हल्का बल प्रयोग भी किया गया था। लेकिन एक दिन बाद ही इसका असर नहीं दिखा।

खबरें और भी हैं...