स्मैक की लत ने युवाओं को बनाया चोर, 2 गिरफ्तार:आशापुरा मंदिर से चुराए चांदी के आभूषण, आधा दर्जन से ज्यादा की चोरियां

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नशे की लत ने बनाया चाेर, अब पुलि - Dainik Bhaskar
नशे की लत ने बनाया चाेर, अब पुलि

बाड़मेर जिले की सेड़वा पुलिस ने मां आशापुरा मंदिर चोरी का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस चोरों से चोरी किए गए आभूषण व रुपए की बरामदगी के लिए पूछताछ कर रही है। अब तक पूछताछ में सामने आया है कि युवक स्मैक की लत के कारण चोरी किया करते थे। दरअसल, कारटिया गांव निवासी मिश्रीमल पुत्र चुनाराम ने 6 अगस्त को सेड़वा थाने में रिपोर्ट दी थी।

रिपोर्ट के मुताबिक 5 अगस्त की रात्रि को चोर मां आशापुरा मंदिर कारटिया में रखे चांदी के आभूषण, आरती का सामान व दान पेटी तोड़कर रुपए चुरा कर ले गए थे। मंदिर से चांदी का छतर नग 5, चांदी आभूषण नग 9, थाली चांदी की 1, लोटा चांदी का 1, चांदी का घंटा 1, आरती नगर 1, चांदी के दीपक 9, एक मां की मूर्ति का बड़ा चांदी का करटोला सहित कई आभूषण चुरा कर ले गए। इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि टीम ने संदिग्ध सिहाणिया निवासी चेलाराम पुत्र सावलाराम व आलम खान पुत्र साधी खान को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। चोरों ने मंदिर से चोरी की वारदात करना कबूल किया। पुलिस दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इन आरोपियों से चोरी किए गए आभूषण की बरामदगी के लिए पूछताछ की जा रही है।

नशे की लत ने बनाया चोर
आरोपी चेलाराम व आलम खान एमडी व स्मैक (मादक पदार्थ) नशे की आदी है। एमडी व स्मैक को खरीदने के लिए पैसों का जुगाड़ करने के लिए चोरी करते थे। दोनों दिन में रैकी कर रात्रि में बंध पड़े एकांत मंदिर व मस्जिद में चोरी करते थे। चोरी किए गए सामान को बेचते और उन पैसों से एमडी व स्मैक खरीदते थे।

मंदिर व मस्जिद में की चोरी

दोनों आरोपियों से पूछताछ में सामने आया है कि इन दोनों ने सेड़वा व जालोर जिले में कई मंदिरों व मस्जिद में चोरियां की हैं। आरोपियों ने मां आशापुरा मंदिर कारटिया, बाबा रामदेवजीका मंदिर व मां आशापुरा मंदिर गंगासरा, बायोशा मंदिर फागलिया, महादेव मंदिर अरटा बाखासर और जालोर जिले में दरगाह शरीफ सुराचंद सहित कई स्थलों पर चोरी करना कबूल किया है।

खबरें और भी हैं...