पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Six Colonies, Half Plots Were Also Sold Without Land Conversion On 104 Bighas Of Agricultural Land In One Km Radius Of Medical College, Now UIT Gave Notice

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:मेडिकल कॉलेज की एक किमी परिधि में 104 बीघा कृषि भूमि पर बिना भू-रूपांतरण के काट दी छह कॉलोनियां,आधे भूखंड भी बिक गए, अब यूआईटी ने दिए नोटिस

बाड़मेर8 दिन पहलेलेखक: पूनमसिंह राठौड़
  • कॉपी लिंक
  • जालीपा में कृषि भूमि पर आबाद हो रही कॉलोनियां, यूआईटी से एप्रूव्ड नहीं, पेराफेरी क्षेत्र में भी काट दी आवासीय कॉलोनी

शहर के प्रोपर्टी बाजार में मंदी के बावजूद मेडिकल कॉलेज के आस-पास कृषि भूमि पर धड़ल्ले से कॉलोनियां काटी जा रही है। यूआईटी क्षेत्र में कृषि भूमि को आवासीय में कन्वर्जन करवाए बिना ही कॉलोनाइजर करीब आधा दर्जन कॉलोनियां काट चुके हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि इन कॉलोनियों में आधे से अधिक भूखंड बेचान भी हो गए।

इस मामले को यूआईटी ने गंभीरता से लेते हुए कॉलोनाइजर को नाेटिस थमा दिए हैं। मेडिकल कॉलेज के पास पेराफेरी क्षेत्र में कॉलोनियां काट दी, जबकि उक्त जमीन को आवासीय में कन्वर्जन करने का प्रावधान ही नहीं है। बावजूद इसके कॉलोनाइजर लोगों को सस्ते भूखंडों का लालच देकर रजिस्ट्री के जरिए बेचान कर रहे हैं। मेडिकल कॉलेज जालीपा के पास खसरा नं. 568/155,566/155,244/155,298/166,542/166 में करीब 104 बीघा कृषि जमीन पर आधा दर्जन कॉलोनियां काटी जा चुकी है। पिछले दो-तीन माह से कॉलोनाइजर भूखंड बेचान भी कर रहे हैं। एक-दो को छोड़कर किसी भी कॉलोनी का भू-रूपातंरण नहीं हो रखा है।

यूआईटी के मास्टर प्लान में शामिल जालीपा क्षेत्र में काटी गई कॉलोनियां में 40 फीट की एप्रोच रोड समेत कई पैरामीटर्स भी पूरे नहीं है। इस स्थिति में भविष्य में भूखंडों के पट्टे जारी होने पर भी संशय है। यूआईटी सचिव सूरजभान ने कॉलोनाइजराें को नोटिस जारी कर कॉलोनियों का भू-रूपातंरण करने के बाद ही भूखंड बेचान करने की नसीहत दी है।

इसलिए महंगी हो गई जालीपा की जमीनें

मेडिकल कॉलेज के पास ही सुपर स्पेशलिटीज हास्पिटल मंजूर हो चुका है। इसके पास ही मिनी सचिवालय के 50 बीघा जमीन आरक्षित है। हवाई पट्टी भी बनेगी। अधिकारियों व कर्मचारियों के आवासीय क्वार्टर समेत अन्य सरकारी भवनों का निर्माण होगा। इस लिहाज से कॉलोनाइजराें ने पहले से तैयारी कर ली और आनन-फानन में कॉलोनियां काटकर जमीनों के भाव भी बढ़ा दिए।

कृषि भूमि की कॉलोनी में भूखंड खरीद से नुकसान

  • ऐसी कॉलोनी के प्लॉट का पट्टा जारी नहीं हो सकता। आवासीय या व्यवसायिक निर्माण की स्वीकृति भी नहीं मिलती है। निर्माण कार्य के लिए बैंक से लोन नहीं मिलता। सड़क,बिजली-पानी, सीवरेज आदि के कनेक्शन भी नहीं मिल सकते।
  • कॉलोनी काटने के दौरान बिजली, पानी सहित तमाम सुविधाएं देने का भरोसा देते हैं। प्लॉट बिकने के बाद कॉलोनी की खैर खबर तक नहीं लेते हैं। बाद में लोग कॉलोनाइजर के चक्कर लगाते रहते हैं।

हाइवे के पास कृषि भूमि पर दुकानें व गोदामों का निर्माण

मेडिकल कॉलेज के पास से गुजर रहे एनएच 68 के दाेनों तरफ कृषि भूमि पर दुकानें व गोदामों का निर्माण करवाया जा रहा है। यूआईटी से नोटिस जारी होने के बावजूद लोग मर्जी से कृषि भूमि का व्यावसायिक उपयोग कर रहे हैं। इतना ही नहीं कई व्यापारियों ने निर्माण कार्य भी करवा दिए। जबकि नियमानुसार जमीन की किस्म बदले बिना निर्माण नहीं करवा सकते हैं।

क्या है धारा 90 ए का प्रावधान
कृषिभूमि को आवासीय या व्यावसायिक भूमि में परिवर्तन करवाने की प्रकिया धारा 90 ए के तहत की जाती है। इसके तहत 90 ए की प्रकिया करने वाली संस्था के नाम जमीन स्थानांतरित हो जाती है। नगर परिषद इस जमीन पर पट्टा जारी कर सकती है।

आगे क्या: भू-रूपातंरण नहीं करने पर जमीनें खालसा हो सकती है

कृषि भूमि का गैर कृषि प्रयोजनार्थ उपयोग राजस्थान नगर विकास न्यास अधिनियम 1959 व भू-राजस्व अधिनियम 1965 के विपरीत है। राजस्थान काश्तकारी अधिनियम 1955 की धारा 177 के तहत नोटिस देकर सुनवाई करने के बाद उपखंड मजिट्रेट उक्त जमीन को खालसा घोषित कर संबंधित खातेदारों के खातेदारी अधिकार समाप्त कर सकते हैं।

  • मेडिकल कॉलेज के आस-पास कृषि भूमि पर कॉलोनियां काटी गई है। यह मामला सामने आने के बाद कॉलोनाइजराें को नोटिस दिए। अब दूसरे नोटिस की तैयारी है। लोग भी ऐसी कॉलोनियों में भूखंड नहीं खरीदें क्योंकि बिना एप्रूव्ड कॉलोनियां में यूआईटी भूखंडों के पट्टे जारी नहीं करेगी। पैरी-फेरी भूमि का आवासीय में भू-रूपातंरण करने में अड़चन आएगी। - सुरजभान विश्नोई, सचिव, यूआईटी, बाड़मेर।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें