REET पेपर लीक में जालोर का पत्रकार गिरफ्तार:लगातार हो रही कार्रवाई के डर से हो गया था अंडरग्राउंड, अब तक 40 आरोपी गिरफ्तार

बाड़मेर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रीट लीक पेपर मामले में SOG आरोपियों को पकड़ने के लिए बाड़मेर, जालोर व सिरोही की पुलिस की मदद से दबिश दे रही है। SOG को बीते कुछ दिनों से जालोर के पत्रकार बबलू मीना की तलाश थी जिसे शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। पत्रकार बीते 10-15 दिनों से अंडर ग्राउंड था।

दरअसल, सांचौर निवासी उदाराम की गिरफ्तारी के बाद खुलासा हुआ कि REET पेपर बाड़मेर में कई अभ्यर्थियों के पास पहुंचा था। SOG ने कड़ी से कड़ी मिलाते हुए बाड़मेर के ठेकेदार भजनलाल व उसकी भतीजी को गिरफ्तार किया था। इसके बाद से ठेकेदार भजनलाल के कनेक्शन वाले सभी लोग अंडरग्राउंड हो गए थे। SOG ने 5 फरवरी को सांचौर में तीन जिलों की पुलिस के साथ तीन घंटे मीटिंग की। उसके बाद से अंडरग्राउंड आरोपियों को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन चला रही है। कुछ दिन पहले भी भीनमाल से ग्रामसेवक नरेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया था।

एसओजी एडीजी अशोक राठौड़ ने बताया कि ग्राम विकास अधिकारी (VDO) नरेंद्र से पूछताछ व जांच में सामने तथ्यों में रीट पेपर लीक में जालोर के पत्रकार की भूमिका संदिग्ध पाई गई। इसके बाद पत्रकार बबलू मीना को गिरफ्तार किया गया। बबलू मीना दौसा जिले का रहने वाला है। बबलू 10 वर्षों से जालोर जिले में पत्रकारिता कर रहा है। एसओजी जांच में सामने आया है कि बबलू मीना ने रीट की परीक्षा भी दी थी।

अब तक 40 आरोपी गिरफ्तार
एसओजी रीट पेपर लीक मामले में अब तक बबलू मीणा सहित 40 आरोपियों की गिरफ्तारी कर चुकी है। लगातार हो रही गिरफ्तारियों के डर से पेपर लीक में शामिल लोग अंडरग्राउंड हो चुके हैं। अंडरग्राउंड संदिग्धों को पकड़ने के लिए एसओजी तीनों जिलों मे लगातार स्थानीय पुलिस की मदद से दबिश दे रही है।

REET पेपर लीक में पूर्व सरपंच और ANM हिरासत में:पूर्व सरपंच दिनेश के जरिए ही पेपर बाड़मेर से सांचौर पहुंचा, महिला को भी पकड़ा