REET पेपर लीक में पूर्व सरपंच और ANM हिरासत में:पूर्व सरपंच दिनेश के जरिए ही पेपर बाड़मेर से सांचौर पहुंचा, महिला को भी पकड़ा

बाड़मेर10 महीने पहले

राजस्थान के REET पेपर लीक मामले में SOG लगातार संदिग्धों की तलाश कर रही थी। अब SOG को पूर्व सरपंच और एक महिला ANM (सहायक नर्स) को हिरासत में ले लिया है। SOG सूत्रों के मुताबिक, सोमवार देर रात को रामजी की गोल के पूर्व सरपंच दिनेश विश्नोई व धनाऊ पंचायत समिति की एएनएम SOG के हत्थे चढ़ गए। SOG दोनों को पकड़कर जयपुर ले गई है। पेपर लीक प्रकरण में दोनों की भूमिका भी सामने आई है।

SOG सूत्रों ने बताया है कि पेपर दिनेश विश्नोई के मार्फत ही बाड़मेर से सांचौर (जालोर) पहुंचा है। पूर्व सरपंच दिनेश विश्नोई की बाड़मेर में REET पेपर लाने में अहम भूमिका बताई जा रही है। ये ठेकेदार भजनलाल विश्नोई का करीबी है। इसके सांचौर से भी कनेक्शन हैं।

सांचौर निवासी उदाराम की गिरफ्तारी के बाद खुलासा हुआ कि REET पेपर बाड़मेर में कई अभ्यार्थियों के पास पहुंचा था। SOG ने कड़ी से कड़ी मिलाते हुए बाड़मेर के ठेकेदार भजनलाल व उसकी भतीजी को गिरफ्तार किया था। इसके बाद से ठेकेदार भजनलाल के कनेक्शन वाले सभी लोग अंडरग्राउंड हो गए थे। SOG ने 5 फरवरी को सांचौर में तीन जिलों की पुलिस के साथ तीन घंटे मीटिंग की और उसके बाद से अंडरग्राउंड आरोपियों को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन चला रही है।

ठेकेदार भजनलाल से पूछताछ में सामने आया नाम
सूत्रों के मुताबिक, SOG ने ठेकेदार भजनलाल को दो बार रिमांड पर लिया। भजनलाल से पूछताछ में पूर्व सरपंच दिनेश विश्नोई का नाम सामने आया था। ठेकेदार की गिरफ्तारी के बाद से यह अंडरग्राउंड हो गया था। दिनेश विश्नोई रामजी गोल का सरपंच रह चुका है। वर्तमान में दिनेश की पत्नी रामजी गोल की सरपंच है। पूर्व सरपंच का बाड़मेर व सांचौर दोनों जगह नेटवर्क है। राजनीति रसूख के चलते अच्छी जान पहचान है। SOG दिनेश से पूछताछ कर रही है। इसके बाद दिनेश की भूमिका का पूरा खुलासा हो पाएगा।

ठेकेदार की गिरफ्तारी के बाद से थे अंडरग्राउंड
ठेकेदार भजनलाल, उसकी भतीजी सोहनी की गिरफ्तारी के बाद से भजनलाल का करीबी दिनेश विश्नोई, एडवोकेट मनोज उसकी पत्नी व उसके रिश्तेदार सहित आधा दर्जन लोग अंडरग्राउंड हो गए थे। अब पूर्व सरपंच दिनेश विश्नोई के पकड़े जाने के बाद अब SOG उससे पूछताछ कर रही है। SOG ने धनाऊ पंचायत समिति की एक एनएनएम को भी पकड़कर ले गई है।

SOG एडवोकेट मनोज की तलाश में ​​​​​​​SOG सूत्रों के मुताबिक, SOG अहम कड़ी एडवोकेट मनोज की तलाश कर रही है। वह किसी दूसरे राज्य में बताया जा रहा है। एडवोकेट मनोज का भी सांचौर से कनेक्शन है। सांचौर में मनोज का ससुराल व रिश्तेदारी है। नकल गिरोह से भी संबंध है। SOG इनको पकड़ने के लिए लगातार घरों व ठिकानों पर दबिश दे रही है। वहीं, बाड़मेर व जालोर जिले में बड़ी संख्या में संदिग्ध अंडरग्राउंड हो गए हैं।

इनपुट के आधार पर जुड़ रही कड़ी
SOG गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में मिल रहे इनपुट के आधार पर कड़ी से कड़ी जोड़ने के लिए जगह-जगह दबिश दे रही है। SOG सूत्रों के मुताबिक, REET नकल गिरोह की पड़ताल के दौरान SOG के सामने यह भी आया है कि लोगों ने अपनी पत्नी, बहू, बहन तो किसी ने रिश्तेदार को REET पास कराने के लिए लाखों रुपए के इंतजाम भी किए। इसके बाद पेपर उपलब्ध कराया गया।

बीजेपी कार्यकर्ताओं पर पानी के गोले बरसाए, LIVE:प्रदर्शनकारियों ने बेरिकेड्स उखाड़े,पुलिस से भिड़े; REET जांच को लेकर सड़क पर घमासान