पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पंचायतीराज चुनावों को लेकर सरगर्मियां तेज:सेड़वा में एसटी व फागलिया में एससी की प्रधान सीट, रालोपा ने खोला तीसरा माेर्चा

सेड़वाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत समिति सेड़वा व फागलिया के पंचायत समिति सदस्यों एवं जिला परिषद सदस्यों के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ सेड़वा क्षेत्र में चुनावी सरगर्मियां तेज हो गई है। मैदान में भाजपा व कांग्रेस के साथ आरएलपी भी अपनी जाजम बिछा दी है। कहीं टिकट के लिए उम्मीदवार स्थानीय नेताओं के इर्द-गिर्द मंडराते नजर आ रहे हैं तो कई उम्मीदवार टिकट की उम्मीद न मिलने से गुट बदलने की फिराक में लगे हुए हैं।
पंचायत समिति फागलिया नवसृजित है।

2015 में पंचायत समिति सेड़वा के 28 सदस्यों के लिए निर्धारित सीटों पर चुनाव में भाजपा व कांग्रेस दोनों प्रमुख दलों ने अपनी ताल ठोकी थी लेकिन कांग्रेस विजयी हुई तथा प्रधान भी कांग्रेस के वर्तमान विधायक पदमाराम बने और 2018 में पदमाराम ने प्रधान पद से इस्तीफा दिया और धीरज कुमार गर्ग को प्रधान बनाया गया। पदमाराम ने प्रधान सीट से इस्तीफा देकर विधानसभा का चुनाव लड़ा और जीत हासिल कर वर्तमान में चौहटन विधानसभा क्षेत्र से विधायक है।

इस बार पंचायत समिति सेड़वा में 15 सदस्य सीटों पर चुनाव है तथा फागलिया में भी 15 सदस्य सीटों पर चुनाव लड़े जा रहे हैं। सेड़वा प्रधान के लिए एसटी सीट आरक्षित है जबकि नवसृजित पंचायत समिति फागलिया एससी सीट के लिए आरक्षित है। दोनों पार्टियों के लिए रोड़ा बनी आरएलपी भी अपने उम्मीदवारों को तैयार करने में जुटी हुई है।

जिताऊ उम्मीदवारों को तलाश रही है भाजपा व कांग्रेस, दावेदार कई
सेड़वा समिति प्रधान की सीट इस बार एसटी के लिए आरक्षित होने से कांग्रेस व भाजपा दोनों दल इस पद के लिए सशक्त उम्मीदवार की तलाश में जुटे हुए हैं। सेड़वा प्रधान के लिए कांग्रेस से किरताराम, सवाईराम, हमलुराम सहित कई नाम चर्चा में आए पर अभी तक किसी के नाम पर मुहर नहीं लग पाई है। वहीं भाजपा ने अभी तक कोई नाम जाहिर नहीं किया है। वहीं नवसृजित पंचायत समिति फागलिया प्रधान की सीट एससी के लिए आरक्षित है। फिलहाल दोनों पार्टियों ने उम्मीदवारों के नाम जाहिर नहीं किए है। वहीं दोनों पार्टियां जातीय समीकरण साधकर अपनी कड़ी मजबूत करने में जुटी हुई है।
चौहटन व सेड़वा में अब तक यह रहे प्रधान, अब फागलिया पंस. अलग बनी
चौहटन पंचायत समिति में 1964 से पहले अब्दुल हादी व बाबू खान प्रधान रहे। उसके बाद 1964 से 1977 तक सबोज खान, 1982 से 1988 तक लक्ष्मण सिंह सोढा, 1988 से 1991 तक गणपत सिंह चौहान, 1995 से 2000 तक मिश्रीदेवी कागा, 2000 से 2005 तक बक्सा खान, 2005 से 2010 तक गफूर अहमद रहे। जो कांग्रेस कार्यकाल में राजस्थान सरकार में राज्यमंत्री भी रहे। 2010 से 2015 तक शम्मा खान रही जो सीमावर्ती क्षेत्र से कांग्रेस के कद्दावर नेता पूर्व विधायक अब्दुल हादी की पुत्रवधु है। 2015 के बाद सेड़वा नई पंचायत समिति बनी। इसमें कांग्रेस के पदमाराम मेघवाल प्रधान बने जो वर्तमान में चौहटन विधानसभा से विधायक है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें