मां ने छीन ली बच्चों की जिंदगी:2 साल की बेटी और 5 साल के बेटे को जहर दिया, फिर खुद भी किया सुसाइड

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एक मां ने अपने दो मासूम बच्चों को जहर देकर मार दिया और खुद भी आत्महत्या कर ली। यह दिल दहला देने वाली घटना बाड़मेर जिले के गिड़ा थाना क्षेत्र के बाटाडू मेहराजोणियों की बेरी गांव की है। मृतका का नाम चंपा देवी है। बच्ची की उम्र 2 साल और बेटे की उम्र पांच साल थी।

25 साल की महिला ने जब इस घटना को अंजाम दिया उस वक्त घर के बाकी लोग खेत में काम करने गए थे। शाम में उनकी तबीयत बिगड़ने लगी तो परिजन उन्हें अस्पताल ले गए। इलाज के दौरान पता चला कि तीनों ने जहर खाया है। अस्पताल ले जाने के दौरान ही महिला की मौत हो गई, जबकि बच्ची की गुरुवार को जोधपुर में इलाज के दौरान मौत हुई।

सुसाइड के कारणों का अब तक पता नहीं

जानकारी के अनुसार मृतका के परिजन शाम को जब खेत से घर लौटे तब अचानक चंपा देवी की तबीयत खराब होने लगी। अस्पताल ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई, जबकि बेटे कैलाश और बेटी पुष्पा की तबीयत ज्यादा खराब होने पर उन्हें बाड़मेर अस्पताल लाया गया। यहां कैलाश की इलाज के दौरान मौत हो गई। पुष्पा की हालत गंभीर होने पर बुधवार रात जोधपुर रेफर किया गया। गुरुवार सुबह उसकी भी मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि अभी तक कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है कि मां ने ऐसा क्यों किया। महिला के पीहर पक्ष के लोगों के आने पर पोस्टमार्टम करवा आगे की कार्रवाई की जाएगी।

चंपा और लच्छाराम की 6 साल पहले हुई थी शादी

चंपादेवी की शादी 6 साल पहले लच्छाराम जाट से हुई थी। पति पचपदरा में होटल पर काम करता है। वारदात के दौरान पति पचपदरा में था, जबकि सास-ससुर समेत घर के दूसरे सदस्य खेत में काम कर रहे थे। गिड़ा थाना अधिकारी जयराम ने बताया कि विवाहिता का शव बायतु मोर्चरी में रखवाया गया है। पुलिस को भी गुरुवार सुबह इसकी जानकारी मिली थी। इसके बाद परिजनों को सूचना दे दी गई है।