जिला अस्पताल काे गुणवत्तावान संस्थान का मिला सर्टिफिकेट:केंद्र सरकार ने मां-शिशु के बेहतर इलाज तथा अस्पताल की व्यवस्थाओं के आधार पर की मार्किंग

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मेडिकल काॅलेज से संबंध जिला अस्पताल काे मां और शिशु के बेहतर इलाज व अच्छी सुविधाएं मुहैया कराने को लेकर केंद्र सरकार की ओर से गुणवत्तावान संस्थान का सर्टिफिकेट जारी किया गया है। इस सर्टिफिकेट का बड़ा फायदा यह होगा कि केंद्र सरकार के लक्ष्य प्रोग्राम के तहत जिला अस्पताल काे प्रति बेड सालाना 10 हजार रुपए की राशि तीन साल तक दी जाएगी।

ऐसे में जिला अस्पताल में प्रसूताओं के लिए संचालित 60 बेड हाेने से तीन साल में 18 लाख रुपए मिलेगे। जिला अस्पताल में 21 अप्रैल काे केंद्र की ओर से आई दाे सदस्यीय टीम के निरीक्षण के बाद यह मान्यता मिली है। टीम के सदस्य असेसर डाॅ. नमितसिंह ताेमर व एनेस्थेसिया डाॅ. एस थुलासी की ओर से 300 से अधिक बिन्दुओं का चेक लिस्ट के आधार पर नेशनल असेस्टमेंट किया गया था। अस्पताल में प्रसूताओं की दी जाने वाली सुविधाओं, ओपीडी केंद्र, जांच केंद्र, ऑपरेशन थिएटर, पोस्ट डिलीवरी वार्ड, पाेस्ट ऑपरेटिव वार्ड, लेबर रूम, सेप्टिक लेबर रूम तथा सफाई व्यवस्था के आधार पर ग्रेडिंग की थी।

लक्ष्य कार्यक्रम का यह है उद्देश्य:
केंद्र सरकार के लक्ष्य प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य महिलाओं की डिलेवरी पूरी तरह से सुरक्षित कराना है। इसके लिए लेबर रूम और ऑपरेशन थियेटर पूरी तरह से हाईजिन, पूर्ण सुविधाजनक, डिलेवरी के बाद प्रसूता को पूर्ण इलाज मुहैया कराना है।

  • लक्ष्य प्राेग्राम के तहत दाे सदस्यीय टीम ने 21 अप्रैल काे जिला अस्पताल की एमसीएच विंग का निरीक्षण किया था। इसके तहत शुक्रवार केंद्र सरकार की ओर से उच्च गुृणवत्ता का सर्टिफिकेट जारी किया गया है। सरकार की ओर से सालाना 6 लाख रुपए की राशि दी जाएगी। प्रसूताओं के लिए बेहतर सुविधाओं उपलब्ध करवाई जाएगी। अस्पताल की बेहतर सफाई व्यवस्था और इलाज की सुविधाओं के देखते हुए प्रमाण पत्र जारी किया गया है। - डाॅ. बीएल. मसूरिया, अधीक्षक जिला अस्पताल।
खबरें और भी हैं...