पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • The Officers Had To Give The Identity Cards Of The Teachers, Not Given. Now The Same Officers Are Issuing Notices On Not Wearing

लापरवाही:अफसरों को देने थे शिक्षकों के पहचान पत्र, दिए नहीं अब वही अधिकारी न पहनने पर थमा रहे हैं नोटिस

बाड़मेर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • निदेशक ने 20 जनवरी, संभागीय आयुक्त ने 24 अगस्त को दिए थे आई कार्ड बनाने के निर्देश

कार्य स्थल एवं विशेष आयोजन पर कार्मिकों की आसानी से पहचान हो सके इसके लिए शिक्षा विभाग ने राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की ओर से शिक्षकों के आई कार्ड जारी करने के लिए जनवरी में ही आदेश जारी किए थे। इसके तहत सीबीईओ समस्त पीईईओ की मार्फत से अपने अधीन सभी कार्मिकों का डाटा एकत्र कर डीईओ को उपलब्ध कराते।

इसके बाद समसा की ओर से कार्ड जारी कर वितरित करने थे। नौ माह की समयावधि बीत जाने के बाद भी कार्ड बनाने की प्रक्रिया फाइलों से बाहर नहीं निकल पाई है। हालांकि इसके लिए बजट भी सरकार ने जारी कर दिया था, एक कार्ड की अनुमानित लागत 30 रुपए दर निर्धारित की हुई है, जिले में करीबन 20 हजार कार्मिकों को कार्ड जारी होने है।

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि दो बार निविदाएं निकाली लेकिन निर्धारित मापदंड के अनुसार कोई संवेदक नहीं मिलने आगे की कार्रवाई शुरू नहीं हो पाई। संभागीय आयुक्त के निर्देश पर विभागीय अधिकारियों ने स्कूलों का निरीक्षण करना शुरू किया है।

निरीक्षण के दौरान शिक्षकों के आई कार्ड नहीं होने की स्थिति में उन्हें नोटिस दिए जा रहे हैं, जबकि विभाग की ओर से कार्ड जारी ही नहीं हुए। राप्रामाशि संघ के प्रदेश मंत्री दीपक ठक्कर ने बताया कि इस प्रकार शिक्षकों को बिना कारण के नोटिस देना गलत है, संघ इसका विरोध करेगा।

शिक्षकों का डाटा एकत्र, नहीं बन पाए आई कार्ड
सीबीईओ एवं पीईईओ ने अपने क्षेत्र के शिक्षकों का डाटा एकत्रित कर सूचनाओं के साथ मुख्यालय को उपलब्ध करा दिया है, लेकिन अधिकारियों की लापरवाही से नौ माह बाद भी शिक्षकों के परिचय पत्र नहीं बन पाए हैं। नतीजनत सूचनाओं की फाइलें ऑफिसों में धूल फांक रही है, और शिक्षकों को बिना गलती के ही कार्ड नहीं पहनने के नोटिस झेलने पड़ रहे हैं। संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने 24 अगस्त एवं कलेक्टर ने 31 अगस्त को पुन: निर्देशित किया था। लेकिन अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक व जिम्मेदारों पर इसका अब तक कोई असर नहीं पड़ा है।

  • आई कार्ड जारी करने के लिए बजट व आदेश जारी होने के 9 माह बाद नहीं बनाना व टेंडर प्रक्रिया में देरी करने में गड़बड़झाला हैं। उच्च स्तरीय जांच व परिचय पत्र बनाने का कार्य शुरू कराएं। - नूतनपुरी गोस्वामी, जिला अध्यक्ष, राप्रामाशि संघ
  • विभाग ने दो बार आई कार्ड जारी करने के लिए टेंडर जारी किए थे, निर्धारित प्रारूप एवं शर्तों के मुताबिक कोई संवेदक इच्छुक नहीं मिला। टेंडर एवं वर्कऑर्डर जल्द ही जारी कर कार्ड वितरित करेंगे। - सत्यदेव सोनी, कार्यक्रम अधिकारी, समसा
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें