पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रोहिड़ाला गांव की घटना:फरमा बांधते कुआं ढहा, 40 फीट गहराई में दबे 2 श्रमिक, दोनों की मौत

बाड़मेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गडरारोड के रोहिड़ाला गांव में कुएं की खुदाई के दौरान ढह गया। इसमें 4 लोग दबे थे, लेकिन दो लाेगाें ने रेत खिसकने के दौरान भाग कर जान बचाई। जबकि दो अंदर दब गए। - Dainik Bhaskar
गडरारोड के रोहिड़ाला गांव में कुएं की खुदाई के दौरान ढह गया। इसमें 4 लोग दबे थे, लेकिन दो लाेगाें ने रेत खिसकने के दौरान भाग कर जान बचाई। जबकि दो अंदर दब गए।
  • बचाव कार्य में पुलिस, ग्रामीण व बीएसएफ जवान आठ घंटे जुटे रहे

गडरारोड तहसील क्षेत्र के रोहिड़ाला गांव में गुरुवार शाम 4 बजे ओपन वैल (कुएं) की खुदाई के दौरान फरमा बांधते समय रेत खिसकने से दो श्रमिक अंदर दब गए। करीब 40 फीट की गहराई पर दबे श्रमिकों को निकालने के लिए 8 घंटे तक रेस्क्यू चला। रात करीब 7.45 बजे एक श्रमिक का शव निकाल लिया गया। इसके बाद भी 3 मशीनों से खुदाई का काम चलता रहा। बालू रेत होने से खुदाई के दौरान पूरा कुआं ही ढह गया।

इससे बाहर खड़े दो लोगों ने भी भाग कर जान बचाई। दूसरे मजदूर का शव रात पौने ग्यारह बजे निकाला गया। हादसा ऐसी जगह हुआ, जहां मोबाइल नेटवर्क भी नहीं है। ऐसे में आसपास के टीबे पर चढ़ कर लोगों ने पुलिस और प्रशासन को भी हादसे की सूचना दी। इसके बाद एसडीएम, तहसीलदार, पुलिस सहित कई अधिकारी मौके पर मौजूद रहे। एसपी आनंद शर्मा ने बताया कि गुरुवार को रोहिड़ाला गांव में कुआं खुदाई कर रहे थे। धोरों में खोदे जा रहे इस कुएं की रेत अचानक खिसक गई। इससे 40 फीट खोदा हुआ कुआं ढह गया। हादसे में केवाराम पुत्र भोजाराम, बालमराम पुत्र मंछाराम कुएं में दब गए। इस दौरान कुएं के बाहर बैठे दो जने भी रेत के साथ खिसक गए।

गनीमत रही कि ये दोनों 2 फीट तक ही रेत में दबे थे, जैसे-तैसे इन्होंने अपनी जान बचाई। सूचना पर थानाधिकारी ओमप्रकाश, एसडीएम, तहसीलदार सहित प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। रस्सियां व सीढ़ियों के सहारे लोग गड्ढ़े में उतरे और बालू रेत में श्रमिकों को ढूंढ़ा। इसके बाद शाम 7.45 बजे 15 फीट की खुदाई पर एक श्रमिक बालमराम का शव निकाला।

इसके बाद 40 फीट पर दबे केवाराम को निकालने के प्रयास शुरू किए। रात पौने ग्यारह बजे तक बचाव कार्य चलता रहा। देर रात बचाव कार्य में जुटी टीम ने दूसरे मजदूर का शव निकाला। बालू रेत के कारण बचाव कार्य में जुटी टीम को भी काफी परेशानी हुई।

धोरों में खोद रहे थे कुआं, दूसरे फरमे की खुदाई के दौरान खिसक गई रेत

रेतीले धोरे के बीच जहां आसपास कहीं दूर-दूर तक पेड़-पौधे भी नहीं है। ऐसे धोरे के बीच ओपन वैल खोद रहे थे। पिछले एक-दो साल में रोहिड़ी, सुंदरा इलाके में मीठा पानी निकलने के बाद कई कुओं की खुदाई हुई है। ऐसे में अब किसान कुओं को खुदवा रहे हैं। इसी तरह रोहिड़ाला में कुआं खोदा जा रहा है।

एक फरमा भरने के बाद दूसरे फरमे की खुदाई की जा रही थी, लेकिन गीले फरमे के कारण बालू रेत अचानक खिसक गई। इस दाैरान बाहर बैठे लोग भी रेत के साथ अंदर गिर गए। दो ने भाग कर जान बचाई, जबकि एक 15 फीट की गहराई पर दब गया, जबकि चौथा श्रमिक 40 फीट पर कुएं के पैंदे में ही दब गया।

बाड़मेर में रेत ढहने के अब तक हुए बड़े हादसे

  • 2013: ठठर का डेर में कुआं खुदाई के दौरान ढहने से 75 फीट की गहराई में दबे दो श्रमिकों की मौत हो गई।
  • 22 मई 2019: शिवकर गांव में कुआं ढहने से 25 फीट पर दबे श्रमिक की मौत हो गई, 6 घंटे बाद निकाला गया।
  • 29 सितंबर 2019: खारड़ा दर्जियों की ढाणी में पानी का टांका खुदाई के दौरान ढहा,तीन श्रमिकों की मौत हो गई।
  • 11 नवंबर 2019: बाछला गांव में कुएं की सफाई के लिए उतरे 4 श्रमिकों की जहरीली गैस से मौत हो गई।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें