• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Three Minor Sisters Missing From Baniyawas Found Child Help Line While Roaming In Jaipur, Girls Found On Fourth Day, Police And Relatives Breathed A Sigh Of Relief

जयपुर में मिली बाड़मेर की लापता नाबालिग बहनें:बानियावास की 3 बहनें चौथे दिन चाइल्ड हेल्प लाइन को घूमते मिली, परिजनों ने ली राहत की सांस, पुलिस की कई टीमें कर रही थी तलाश

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस थाना मंडली। - Dainik Bhaskar
पुलिस थाना मंडली।

बाड़मेर जिले के मंडली थाना क्षेत्र के गांव बानियावास से लापता हुई 3 नाबालिग चचेरी बहनें जयपुर में मिल गई है। चाइल्ड हेल्प लाइन ने बच्चियों को यहां घूमते देखा तो उनको बाल सुधार गृह भिजवाया और मंडली थाने को सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस और परिजनों ने राहत की सांस ली। इसके बाद पुलिस टीम बच्चियों को लेकर जयपुर बालिका सुधार गृह पहुंची और बच्चियों को लेकर बाड़मेर के लिए रवाना हो गई।

मंडली थानाधिकारी सुमन बुंदेला ने बताया कि पुलिस को रिपोर्ट मिलते ही मामले की गंभीरता को देखते हुए बच्चियों की तलाश शुरू कर दी। पुलिस को सुराग लगा कि बच्चियां गांव से टैक्सी से आगोलाई और वहां से जोधपुर पहुंची। लेकिन इसके बाद बच्चियों का सुराग नहीं लग रहा था। पुलिस ने सभी जिलों में बच्चियों की फोटो और जानकारी भिजवाई थी। शुक्रवार देर शाम बच्चियां जयपुर में घूमती चाइल्ड हेल्प को दिखी तो उन्होने मंडली पुलिस को सूचना दी। वहां से बच्चियों को बालिका सुधार गृह भेज दिया गया। डीएसपी धनफूल मीणा के निर्देश पर बच्चियों को लेने के लिए मंडली पुलिस टीम जयपुर पहुंची और वहां से बच्चियों को लेकर रवाना हो गई। बाड़मेर पहुंचने पर बच्चियों से पूछताछ के बाद पता चलेगा कि वह अपनी मर्जी से घर से गायब हुई थी या उन्हें कोई गुमराह कर ले गया।

मंडली थानाधिकारी सुमन की तत्परता से मिली सफलता
मंडली थानाधिकारी सुमन की तत्परता से मिली सफलता

वृंदावन और उदयपुर गई थी टीम
डीएसपी ने पचपदरा थानाधिकारी प्रदीप डागा, समदड़ी थानाधिकारी दाउद खान व मंडली थानाधिकारी सुमन के नेतृत्व में अलग-अलग टीमें गठित कर बच्चियों की तलाश में भेजी थी। साथ ही प्रदेश के तमाम थानों को बच्चियों की तस्वीर भेजकर अलर्ट मोड पर किया गया था। मंडली थानाधिकारी सुमन बुंदेला ने बताया कि बच्चियों को ढूंढने के लिए पुलिस ने अलग-अलग टीमें बनाई गई। सीसीटीवी फुटेज, फील्ड के लिए अलग टीम बनाई गई थी। वृंदावन, उदयपुर में टीमें बच्चियों को ढूंढने का प्रयास कर रही थी।

यह है मामला
मंगलवार शाम को गांव बनियावास में तीन चचेरी नाबालिग बहनें और उनकी दादी घर पर थीं। बच्चियों के पिता-मां खेत में काम रहे थे। दादी घर के काम में उलझ गईं। इसी दौरान तीनों बहनें घर से बिना बताए निकल गईं। इसमें सबसे बड़ी 17 साल, दूसरी 15 साल और तीसरी 8 साल की है। थोड़ी देरी बाद दादी को तीनों बहनें नहीं दिखी, तो उन्होंने पड़ोस और गांव में देखा, लेकिन उनका पता नहीं लगा। इसके बाद रात करीब 8 बजे बच्चियों का गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई।

खबरें और भी हैं...