पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसा:बाड़मेर के प्रवीण नाहटा समेत दाे किशोर सूरत की तापी नदी में डूबे

बाड़मेर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सूरत में रह रहे बाड़मेर के प्रवीण नाहटा समेत एक अन्य साथी तापी नदी में नहाने के लिए उतरे थे। पानी के तेज बहाव में डूब जाने से उन दोनों की मौत हो गई।

घटना सोमवार शाम की है, लेकिन शव मंगलवार को 22 घंटे बाद मिले। दोनों किशोर, बारडोली तहसील में स्थित बाघेचा गांव में अपने चार अन्य दोस्तों के साथ नदी किनारे मंदिर के पास पिकनिक मनाने गए थे। क्षेत्र में बारिश के बाद से नदी में बाढ़ आई हुई है। पुलिस ने दोनों शव नदी से निकाल परिजनों को सुपुर्द किया, जिसके बाद परिजन शव लेकर बाड़मेर के लिए रवाना हुए है।

बारडोली पुलिस के मुताबिक जब अन्य दोस्त खाना खा रहे थे तब दोनों किशोर नदी में तैरने गए और बह गए। उनके दोस्तों ने स्थानीय लोगों को बुलाया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। एक नाबालिग पुस्तक लेने के बहाने और दूसरा घर में कुछ बताए बिना ही कार में बाघेचा घूमने गए थे। बाघेश्वर महादेव का दर्शन करने के बाद तापी में नहा रहे थे।

जानकारी के अनुसार सूरत के गोडादरा, भावना पार्क सोसाइटी के नजदीक राधेश्याम बंग्लोज में रहने वाला 17 वर्षीय पीयूष पुत्र सुजाराम गहलोत और पूणा पाटिया, दर्शन रेजिडेंसी, रेशमा रो-हाउस के नजदीक रहने वाला बाड़मेर निवासी 17 वर्षीय प्रवीण नाहटा पुत्र ओम प्रकाश जैन 12वीं कक्षा में पढ़ते थे।

पीयूष सोमवार को पुस्तक लेने के बहाने घर से निकला था, जबकि प्रवीण किसी को कुछ बताए बिना ही छह दोस्तों के साथ कार में बैठकर बारडोली तहसील के बाघेचा में बाघेश्वर महादेव मंदिर में दर्शन करने गया था। मंदिर में दर्शन करने के बाद शाम को 4 बजकर 30 मिनट पर प्रवीण और पीयूष तापी नदी में नहाने चले गए, जबकि दूसरे चार दोस्त पत्थर पर बैठकर नाश्ता कर रहे थे।

पीयूष और प्रवीण नहाते समय पानी के तेज बहाव में बह गए। दो दोस्तों के डूबने से सभी घबरा गए। मंदिर में जानकारी देने के बाद पुलिस और फायर ब्रिगेड को सूचित किया गया। फायर और स्थानीय गोताखोर नदी में खोजबीन शुरू की। मंगलवार को सुबह 9.30 बजे 16 घंटे बाद प्रवीण और दोपहर 3 बजे 22 घंटे बाद पीयूष का शव मिला। प्रवीण कुमार पुत्र ओमप्रकाश नाहटा बाड़मेर का रहने वाला है।

खबरें और भी हैं...