पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • Unique Initiative Of Sivana SDM, Awareness Campaign Running Short Film, Animation And Short Cartoon Film Due To Fear Of Third Wave,

कोरोना की तीसरी लहर रोकने को शॉर्ट फिल्म:सिवाना एसडीएम की अनूठी पहल, एनिमेशन और शार्ट कार्टून फिल्म के जरिये चला रहीं जागरूकता अभियान

बाड़मेर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्याम से जुड़ी एसडीएम कुसुमलता चौहान। - Dainik Bhaskar
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्याम से जुड़ी एसडीएम कुसुमलता चौहान।

कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता के बाद वैज्ञानिकों द्वारा तीसरी लहर की आशंकाओं को देखते हुए सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी है। इसकी रोकथाम को लेकर हर कोई अलग-अलग जतन कर रहा हैं। बाड़मेर जिले की महिला एसडीएम ने कोरोना की पाठशाला खोल दी। इस पाठशाला में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये शिक्षको, बच्चों के अभिभावकों से जुड़कर जागरूक करने का काम कर रही हैं। सोशल मीडिया ग्रुप के जरिए कोरोना जागरूकता की शॉर्ट फिल्म, एनिमेशन एवं शॉर्ट कार्टून फिल्म भेज रहे हैं।

जिले के सिवाना उपखंड की एसडीएम कुसुमलता चौहान ने दो दिन पहले नवाचार करते हुए कोरोना की पाठशाला खोल कर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से टीचरों, अभिभावको, बच्चों को जोड़ा और कोरोना गाइडलाइन के बारे में बताकर जागरूक किया। इसके अलावा शॉर्ट फिल्म, एनिमेशन एवं शॉर्ट कार्टून फिल्म को वाट‌्सएप्प के जरिए भेजकर जागरूकता ला रही हैं।

शॉर्ट फिल्म, एनिमेशन एवं शॉर्ट कार्टून फिल्म के जरिये कोरोना रोकथाम
शॉर्ट फिल्म, एनिमेशन एवं शॉर्ट कार्टून फिल्म के जरिये कोरोना रोकथाम

एसडीएम कुसुमलता चौहान बताती है कि तीसरी लहर की स्वास्थ्य विशेषज्ञों की आशंका के बाद उपखंड में बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी पड़ने प्रभाव को रोकने और जागरूकता लाने के लिए यह कोरोना की पाठशाला अभियान चलाया जा रहा हैं। शिक्षको, अभिभावकों और बच्चों वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से जोड़ा और निगरानी करने वाली टीम से मोबाइल नम्बरों से जरिए वीसी, स्माईल योजना और सोशल मीडिया ग्रुप के माध्यम शॉर्ट फिल्म, एनिमेशन एवं शॉर्ट कॉर्टून फिल्म को भेज रहे हैं।

टीचरों के साथ की चर्चा

एसडीएम ने सिवाना और समदड़ी की महिला टीचरों के साथ विड़ियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़कर इस अभियान के बारे में महिला टीचरों के साथ विस्तृत,व्याख्या एवं चर्चा की। किस तरह इस अभियान को पूर्ण करना है। महिला टीचर रोजाना एक निश्चित स्थान पर निगरानी टीम के सदस्य के सहयोग से 10 बच्चों के ग्रुप के साथ विड़ियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना से बचाव ,सावधानियों, लक्षणों आदि के बारे में बच्चों को बतायेगी। इसके साथ-साथ कुछ प्रेरणादायक शिक्षा भी बच्चों को देंगी, इससे बच्चें काफी समय से शिक्षा से दूर है उस खाई को काफी हद तक कम करने का प्रयास करेंगी।

एसडीएम वीसी के माध्यम से जुड़कर जगारूक करते हुए
एसडीएम वीसी के माध्यम से जुड़कर जगारूक करते हुए

शॉर्ट फिल्म, एनिमेशन एवं शॉर्ट कार्टून फिल्म

कोरोना की पाठशाला में शॉर्ट फिल्म, एनिमेशन एवं शॉर्ट कार्टून फिल्म बनाई इसका प्रदर्शन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान महिला टीचरों से साझा किया, ताकि यह फिल्म सामग्री बच्चो तक पहुंच और खेल-खेल में कोरोना से बचाव के तरीकों को आसानी से समझ सकें।

बच्चों का हो रहा है सर्वे

उपखंड क्षेत्र में सर्वे टीम द्वारा प्रत्येक बच्चे का सर्वे किया जा रहा है। इस सर्वे में प्रत्येक बच्चे की जानकारी जैसे लंबाई, वजन, पूर्व में किसी रोग से ग्रस्ति है या नही एवं यदि आईएलआई लक्षण से ग्रस्ति है तो प्रशासन गंभीर अवस्था से पहले ही सतर्क होकर इलाज शुरू करवा रहा हैं।

गौरतलब है कि कोरोना की तीसरी लहर को लेकर अलग-अलग वैज्ञानिकों की अलग-अलग राय है। कोरोना की दो लहरों में 0 से 18 आयु वर्ग के अस्पतालों में भर्ती होने की संख्या मामूली हैं।